ब्राजील में महिलाओं को प्रेगनेंसी टालने का दिया गया आदेश

ब्राजील में महिलाओं को प्रेगनेंसी टालने का दिया गया आदेश

- in अंतरराष्ट्रीय
0

साओ पाउलो 

pregnant-women_4-300x202ब्राजील में दंपतियों को बच्चा पैदा करने की योजना को कुछ दिनों के लिए टालने का आदेश दिया गया है। इस साल ब्राजील में 2,400 नवजात बच्चों में अजीब किस्म की बीमारी पाई गई है। इस बीमारी से पीड़ित नवजातों का दिमाग सामान्य से छोटा पाया गया, इसका असर उनकी मानसिक स्थिति पर भी पड़ने की संभावना है। ब्राजील के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक इस बीमारी की वजह मच्छरों से पनपा ‘जिका’ नाम का वायरस है। 2014 में भी इस बीमारी से पीड़ित 147 बच्चे पैदा हुए थे।

डेली मेल के मुताबिक ब्राजील के स्वास्थ्य अधिकारी इस गंभीर बीमारी को लैटिन अमेरिकी देशों में मच्छर से पनपे जिका वायरस से जोड़कर देख रहे हैं। स्वास्थ्य अधिकारी किसी भी तरह के खतरे को टालने के ब्राजीलियों से बच्चे पैदा करने की योजना को कुछ दिनों के लिए टालने की अपील कर रहे हैं। पेडियाट्रिक इन्फेक्टोलॉजिस्ट एंगेला रोचा ने कहा, ‘यह बेहद ही निजी फैसला होता है। लेकिन इस अनिश्चितता के माहौल में यदि कपल्स बच्चे पैदा करने की अपनी प्लानिंग को कुछ दिनों के लिए स्थगित करते हैं तो यह बेहतर होगा।’

डॉ. रोचा ने बताया, ‘यह ऐसे नवजात बच्चे है, जिन्हें पूरी जिंदगी स्पेशल देखभाल की जरूरत पड़ेगी। यह एक भावनात्मक तनाव जैसा है, जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती।’ नवजात बच्चों में होने वाली इस घातक बीमारी के बारे में पिछले महीने पता चला था। जब ब्राजील के सिएरा राज्य में जांच के दौरान वैज्ञानिकों को एक नवजात बच्चे के रक्त में जिका वायरस मिला।  ब्राजीली स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि यदि गर्भावस्था के शुरुआती महीनों में महिला जिका वायरस से पीड़ित हो जाती है तो उससे पैदा होने वाले बच्चे के बीमार होने की संभावना अधिक है।

Leave a Reply