अकबर सज्जन व्यक्ति, रमानी के आरोपों ने खराब की छविः पूर्व महिला सहकर्मी

अकबर सज्जन व्यक्ति, रमानी के आरोपों ने खराब की छविः पूर्व महिला सहकर्मी

- in राष्ट्रीय
0

पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी सांसद एमजे अकबर की एक पूर्व महिला साथी ने उनका समर्थन किया है. पत्रकार प्रिया रमानी के खिलाफ अकबर के आपराधिक मानहानि के केस में सुनवाई के दौरान संडे गार्जियन की एडिटर जोयिता बसु ने अकबर के पक्ष में बयान दिया. उनका कहना है कि यौन दुर्व्‍यवहार के आरोपों के चलते अकबर की छवि को नुकसान पहुंचा है.

कोर्ट में अकबर का बचाव करते हुए बसु ने कहा कि रमानी ने जानबूझकर ट्वीट किए और अकबर की छवि को खराब करने की कोशिश है. इससे पहले अकबर ने कोर्ट में अपना बयान दर्ज कराया. उन्‍होंने प्रिया रमानी के खिलाफ आपराधिक मानहानि का केस किया है. इसी मामले में उनका बयान दर्ज हुआ. एडिशनल चीफ मेट्रोपॉलिटन मजिस्‍ट्रेट समर विशाल के सामने अकबर ने कहा कि उन्‍होंने न्‍याय के लिए दफ्तर से लगाव रखे बिना विदेश राज्‍य मंत्री का पद छोड़ दिया.

वहीं बसु ने कहा कि उन्‍होंने 20 साल तक अकबर के साथ काम किया है और इस दौरान उनके खिलाफ कुछ भी नहीं सुना. द संडे गार्जियन की एडिटर ने अकबर को सज्‍जन और साथियों के साथ बात करने में पेशेवर इंसान बताया. बसु ने कहा, ‘वह कड़ाई से अपना काम कराते हैं.’ हालांकि उन्‍होंने आगे कहा कि प्रिया रमानी के ट्वीट पढ़ने के बाद एकबारगी उन्‍हें लगा कि वह सच कह रही हैं लेकिन बाद में पता चला कि वह गलत थीं.

बकौल बसु, ‘मैंने खुद से ही सवाल किया और सोचा कि क्‍या मेरे अनुभव के आधार पर मुझे उन पर लगे आरोपों पर विश्‍वास करना चाहिए? इन आरोपों पर मैंने आठ नवंबर को पलभर के लिए भरोसा कर लिया था. आत्‍मविश्‍लेषण के बाद मैंने जाना कि आरोप गलत थे क्‍योंकि मेरे दो दशक के अनुभव में वह एकदम सज्‍जन व्‍यक्ति थे.’

वहीं अकबर का इन आरोपों पर कहना है कि इससे उनकी साख गिरी है. उन्‍होंने कहा, ’14 अक्‍टूबर को जब मैं घर आया तो वहां आए हुए दोस्‍त काफी नाराज थे. मेरे साथियों पर इसका काफी असर पड़ा. इन आरोपों के बारे में मेरे पास कई फोन आए और सवाल पूछे गए. आरोपों से मेरे दोस्‍तों, साथियों, जनता और राजनीतिक वर्ग के लोगों में मेरी साख गिरी है.”बता दें कि अकबर के खिलाफ कई महिलाओं ने यौन दुर्व्‍यव्‍हार का आरोप लगाया है. सबसे पहले प्रिया रमानी ने उनपर आरोप लगाया था.

Leave a Reply