ऑटो परमिट में गड़बड़ीः 3 अफसर सस्पेंड, BJP ने कहा- ‘गद्दी छोड़ें गोपाल राय’

ऑटो परमिट में गड़बड़ीः 3 अफसर सस्पेंड, BJP ने कहा- ‘गद्दी छोड़ें गोपाल राय’

नई दिल्ली

bjp1-300x200दिल्ली में नए ऑटो को परमिट जारी करने में हुए गड़बड़झाले का विवाद बढ़ता जा रहा है। दरअसल, ऑड-ईवन फॉर्मूले को लागू करने के लिए दिल्ली सरकार की तरफ से 10 हजार नए ऑटो को परमिट दिया जाना था। लेकिन कुछ ऑटो वालों ने एसएमएस के जरिए दिल्ली के सीएम केरजीवाल को शिकायत की कि परमिट देने में ट्रांसपोर्ट विभाग के कुछ अधिकारी गड़बड़ी कर रहे हैं।

इसके बाद, केजरीवाल ने दिल्ली के ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर गोपाल राय को मामले की जांच के लिए कहा। जांच के बाद परिवहन विभाग के तीन अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया। यही नहीं दिल्ली सरकार ने नए जारी किए गए 932 परमिट को रद्द कर दिया है और नए परमिट जारी करने पर रोक भी लगा दी है। दिल्ली सरकार के मुताबिक अब 15 जनवरी तक नए ऑटो सड़कों पर नहीं आ पाएंगे।

दिल्ली सरकार ने डिप्टी कमिश्नर समेत दिल्ली परिवहन विभाग के तीन अधिकारियों को भ्रष्टाचार के आरोप में निलंबित कर दिया है। इन लोगों पर फर्जी पते पर ऑटो परमिट जारी करने का आरोप है। ईवन-ऑड फॉर्मूले को लागू करने के लिए दिल्ली सरकार ने 10,000 नए ऑटो परमिट को मंजूरी दी थी, जिसमें इन अधिकारियों पर धांधली का आरोप लगा है। बीजेपी का आरोप है कि आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं को परमिट दिया जा रहा है।

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इस मामले पर ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है, ‘परिवहन विभाग के तीन अधिकारियों को निलंबित किया जा रहा है। तीन पहिया वाहनों के लिए नए परमिट जारी करने में भ्रष्टाचार का मामला।’ ऑटो को परमिट दिए जाने में भ्रष्टाचार पर निशाना साधते हुए बीजेपी ने परिवहन मंत्री गोपाल राय का इस्तीफा मांगा है। बीजेपी ने दिल्ली के परिवहन मंत्री गोपाल राय पर आरोप लगाते हुए कहा कि इस घोटाले के मास्टरमाइंड वही हैं। बीजेपी ने आरोप लगाया कि नए परमिट देने में 20 से 25 हजार रिश्वत ली गई।

परिवहन मंत्री गोपाल राय ने कहा, ‘दिल्ली में 10 हजार ऑटो परमिट देने की प्रक्रिया शुरू की थी, जिसमें 13 हजार से ज्यादा आवेदन आए थे। इसमें योग्य लोगों की लिस्ट वेबसाइट पर डाली गई। कुछ लोग नियम से आए जिन्होंने बताया कि सीधे डीलर से एलओआई (letter of intent) जारी किया जा रहा है। जिसमें पाया गया कि न तो अल्फाबेट के हिसाब से और न ही रेंडमली 932 LOI दिए जा रहे हैं। पाया गया की पिक एंड चूज किया गया। इसके बाद ही कार्रवाई की गई।

गोपाल राय ने कहा कि हमने मामले को विजिलेंस दे दिया गया है और सीबीआई को भी भेजेंगे। हम भ्रष्टाचार की छुपाते नही हैं जैसे ही मामला सामने आया हमने ऐक्शन लिया। दिल्ली सरकार के फैसले के बाद 10 हजार नए ऑटो अब सड़कों पर नहीं आ पाएंगे।

लेकिन बीजेपी सरकार पर हमलावर हो गई है। दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने कहा कि सरकार किस-किस मुद्दे को अवसर में बदलना है, ढूंढती है। शुगर स्कैम, प्याज घोटाला या भर्ती का घोटाला है। राजेंद्र कुमार की सीडी में भर्ती घोटाला। भ्रष्टाचार का मास्टर माइंड कोई और नही दिल्ली सरकार के ट्रांस्पोर्ट मिनिस्टर हैं।

Leave a Reply