बालाकोट इफेक्ट: सीमापार घुसपैठ में भारी कमी

बालाकोट इफेक्ट: सीमापार घुसपैठ में भारी कमी

- in राष्ट्रीय
0

नई दिल्ली

केंद्र सरकार ने जानकारी दी है कि पाकिस्तान में घुसकर बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर की गई स्ट्राइक के बाद सीमापार से घुसपैठ में काफी कमी आई है। लोकसभा में मंगलवार को गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने बताया कि जम्मू-कश्मीर राज्य में सुरक्षा हालात में काफी सुधार हुआ है और एयर स्ट्राइक के बाद घुसपैठ के मामलों में 43 फीसदी कमी आई है। आपको बता दें कि एक दिन पहले ही रिपोर्ट आई थी कि भारत के ऐक्शन से खौफ में बैठे पाक आतंकी अब अफगानिस्तान की सीमा पर शिफ्ट हो रहे हैं।

जम्मू-कश्मीर में सीमापार घुसपैठ को लेकर पूछे गए प्रश्न के जवाब में राय ने सदन को यह जानकारी दी। आपको बता दें कि इसी साल फरवरी में पाकिस्तान के बालाकोट में भारतीय वायु सेना ने हवाई हमले कर कई आतंकी बेस को ध्वस्त कर दिया था। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने कहा, ‘सुरक्षा बलों के समन्वित प्रयासों से जम्मू-कश्मीर राज्य में इस साल के पहले छह महीनों में पिछले साल के इस अवधि की तुलना में सुरक्षा स्थिति में काफी सुधार हुआ है।’

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने सीमापार घुसपैठ को लेकर जीरो टॉलरेंस की नीति अपना रखी है। यही नहीं, भारत सरकार ने राज्य सरकार के साथ मिलकर सीमापार से घुसपैठ को रोकने के लिए बहुआयामी प्रयास किए हैं। इसके तहत अंतरराष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा पर बहुस्तरीय तैनाती, सीमा पर बाड़ लगाने के काम के अलावा खुफिया तंत्र को भी मजबूत किया गया है।

उन्होंने बताया कि सुरक्षा बलों को आधुनिक हथियार दिए गए हैं और घुसपैठियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है। एक अन्य सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा कि एलओसी पर इलेक्ट्रिक बाड़ यानी ऐंटी इनफिलट्रेशन ऑब्स्टकल सिस्टम (AIOS) घुसपैठ को रोकने में एक शक्तिशाली टूल बनकर उभरा है। उन्होंने बताया कि AIOS के लिए बिजली की जरूरतों को पावर ग्रिड के जरिए और दूसरी जगहों पर जेनरेटर से निर्बाध रूप से आपूर्ति की जा रही है।

Leave a Reply