भोपाल : साध्वी के आंसू, ‘शैतान’ के तंत्र-मंत्र से जंग रोचक

भोपाल : साध्वी के आंसू, ‘शैतान’ के तंत्र-मंत्र से जंग रोचक

भोपाल

लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार अभियान अपने आखिरी चरण में है। ऐसे में कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी न सिर्फ बड़े वादे और पुराने काम वोटरों को याद दिला रही हैं, बल्कि एक-दूसरे के ‘नाटकों’ की आलोचना करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे। इसी कड़ी में जहां एक ओर भोपाल से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह को शैतान बता दिया है, वहीं कांग्रेस की ओर से महिलाओं से प्रज्ञा के आंसुओं के झांसे में न आने के लिए कहा जा रहा है।

‘प्रज्ञा के आंसुओं में न बहें महिलाएं’
दिग्विजय के पोल मैनेजर्स ने प्रज्ञा ठाकुर को निशाने पर ले रखा है। उन्होंने महिला वोटरों से अपील की है कि वे ठाकुर के आंसुओं में न बह जाएं। दिग्विजय के लिए प्रचार अभियान चलाने वाले योगेंद्र परिहार ‘जागो मातृ शक्ति जागो’ नाम से एक वॉट्सऐप ग्रुप बनाया है जिसमें उन्होंने एक मेसेज पोस्ट किया- ‘जब से बीजेपी ने प्रज्ञा ठाकुर को प्रत्याशी बनाया है, भोपाल का हर वोटर ठगा हुआ महसूस कर रहा है। लोग हैरान हैं कि क्या बीजेपी के पास कोई बेहतर विकल्प नहीं था। बेहतर होता अगर बीजेपी ने मौजूदा सांसद आलोक संजर को प्रत्याशी घोषित किया होता। कम से कम उनकी छवि साफ है।’

‘क्या दिग्विजय से निर्देश ले रही थी शिवराज की पुलिस?’
पोस्ट में कहा गया है कि प्रज्ञा चुनाव जीतने के लिए महिलाओं की भावनाओं के साथ खेल रही हैं। मेसेज में लिखा है- ‘भोपाल के लोग, खासकर महिलां प्रज्ञा की कहानियों में विश्वास कर रही हैं। तथ्य यह है कि प्रज्ञा को पहली बार तब गिरफ्तार किया गया जब शिवराज सिंह मुख्यमंत्री थे और बीजेपी सत्ता में थी। यहां तक कि, उन्हें दो बार शिवराज की पुलिस ने गिरफ्तार किया। जब रोती हुई प्रज्ञा ठाकुर आपसे कहती हैं कि दिग्विजय ने उन्हें फंसाया है तो महिलाएं उनसे यह क्यों नहीं पूछतीं कि क्या शिवराज के राज में मध्य प्रदेश पुलिस दिग्विजय से निर्देश ले रही थी और उन्हें सुनील जोशी की हत्या के लिए गिरफ्तार कर लिया।’

‘नाटक में पारंगत हैं प्रज्ञा’
मेसेज में यह आरोप भी लगाया गया है कि प्रज्ञा सिर्फ मालेगांव ब्लास्ट में नहीं बल्कि दो और राज्यों में दो और आपराधिक मामलों में आरोपी हैं। कहा गया है कि सभी मामले फर्जी नहीं हो सकते जो उन्हें फंसाने के लिए बनाए गए हों। मेसेज में अफील की गई है कि भोपाल की मातृशक्ति (महिलाएं) जागें और समझें कि एक महिला जो तीन आपराधिक मामलों में आरोपी है वह नाटक करने में पारंगत है।

‘प्रज्ञा का हमला, सबको पता है कौन साधु, कौन शैतान’
उधर, प्रज्ञा ठाकुर ने खुद ही दिग्विजय के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। उन्होंने हाल ही में कहा है कि लोगों को एक संत और शैतान के बीच में अंतर पता है। गोविंदपुरा लोकसभा क्षेत्र में प्रचार के दौरान उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस हर तरह के नाटक, झांसों और साजिशों का सहारा ले रही है और लोगों को अच्छी तरह से पता है कि कौन साधु है और कौन शैतान।’ उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस के नेता फर्जी हैं और लोगों को भ्रमित करने पर अड़े हुए हैं। उन्होंने कहा कि लोगों को कांग्रेस के नाटक के बारे में पता है।

‘पीएम मोदी को वापस लाने का मन बना चुके लोग’
कांग्रेस के नेताओं के पूजा-पाठ कराने पर उन्होंने तंज कसा और कहा कि कांग्रेस के प्रत्याशी तंत्र-मंत्र और हठयोग से चुनाव जीतने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन लोग विकास का साथ देंगे। उन्होंने कहा, ‘लोग पीएम मोदी को केंद्र की सत्ता में वापस लाने का मन बना चुके हैं। हिंसा और उन्माद फैलाने वाले लोगों के लिए कोई जगह नहीं है।’ बता दें कि राज्य की 13 सीटों पर 29 अप्रैल और 6 मई को वोट पड़ चुके हैं। बाकी 16 सीटों में से 8-8 पर 12 और 19 मई को मतदान होना है। भोपाल में 12 मई को वोट डाले जाएंगे और मतगणना 23 मई को होगी।

Leave a Reply