हेरल्ड केसः BJP ने स्वामी को अकेला छोड़ दिया

हेरल्ड केसः BJP ने स्वामी को अकेला छोड़ दिया

- in राजनीति
0

नई दिल्ली

SUBRAMANIAN_SWAMY1_1257529f-300x227पटियाला हाउस कोर्ट से नैशनल हेरल्ड केस में जब सोनिया-राहुल को जमानत मिली तो कोर्ट के बाहर पूछे गए सवालों का जवाब देते हुए सुब्रमण्यन स्वामी ने एक नया खुलासा किया। सवाल पूछा गया कि क्या सुब्रमण्यन स्वामी को इस केस में बीजेपी का साथ नहीं मिला? स्वामी का जवाब काफी चौंकाऊ था। स्वामी ने कहा, ‘मुझे टूजी केस में भी किसी पार्टी का सपॉर्ट नहीं मिला था। इस केस में भी मुझे किसी का सपॉर्ट नहीं चाहिए। मुझे डॉक्युमेंट्स चाहिए, मंत्रियों का समर्थन नहीं।’

बीजेपी के सपॉर्ट नहीं मिलने के सवाल पर बोलते हुए स्वामी ने कहा, ‘ऐसे लोग हैं, जिनका नाम नहीं लूंगा। उन्होंने प्रक्रिया को धीमा करने की कोशिश की लेकिन उन्हें अब धूल में मिला दिया गया है। किसी की हिम्मत नहीं हुई कि मुझे काम करने से रोक सके।’ जबकि कांग्रेस शुरू से ही आरोप लगाती आई है कि स्वामी बीजेपी के मोहरा हैं। बीजेपी के इशारे पर ही राजनीतिक साजिश के तहत इस केस को हवा दी जा रही है।

स्वामी ने बताया कि कोर्ट में सोनिया और राहुल गांधी को बैठने की इजाजत नहीं दी गई थी। उन्होंने दावा किया वे 2016 में केस जीत जाएंगे और सोनिया-राहुल समेत अन्य नेताओं को जेल जाना होगा।

सुब्रमण्यन स्वामी ने ट्वीट करते बताया कि उन्होंने कांग्रेस नेताओं के बेल का विरोध नहीं किया था। उन्होंने कहा, ‘मैंने आज बेल का विरोध नहीं किया, केवल छूट का विरोध किया, इसीलिए आरोपियों को बेल मिल गई और छूट नहीं मिली।’ वहीं बीजेपी की तरफ से मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने इस मामले को हाई प्रोफाइल बनाने की कोशिश की गई। उन्होंने कहा कि सोनिया-राहुल को महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी जैसा दिखाया, यह गलत है।

अपनी बेईमानी को बलिदानी बना रही है कांग्रेस पार्टी: बीजेपी

नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी सहित 6 नेता को जमानत मिल गई है। कांग्रेस नेताओं को जमानत मिलने के बाद भारत की सियासत भी गरमा गई है। कोर्ट के इस फैसले पर बीजेपी का कहना है कि पहली बार भ्रष्टाचार के पक्ष में लड़ाई हुई है और कांग्रेस बेईमानी को बलिदानी बना रही हैं। साथ ही कांग्रेस की ओर से बीजेपी पर लगाए गए आरोपों पर पार्टी उपाध्यक्ष मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि इस घोटाले में समन कोर्ट की ओर से आया है, बीजेपी मुख्यालय से नहीं।

वहीं नकवी ने कहा कि कांग्रेस और भ्रष्टाचार एक दूसरे के लिए बने है और नेशनल हेराल्ड में घोटाला हुआ और आज कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व इसमें फंसा हुआ है। उन्होंने ये भी कहा कि कोर्ट की प्रक्रिया चल रही है और कांग्रेस कह रही है कि ये राजनीतिक प्रतिशोध है तो इसका मतलब है कांग्रेस कोर्ट की अवमानना कर रही है। अगर कोई आरोपी है तो उसको कोर्ट में बात रखनी चाहिए या सड़क पर तांडव नहीं करना चाहिए।

Leave a Reply