ब्लैक मनीः सरकारी ई-मेल पर मिली 10 हजार शिकायतें

ब्लैक मनीः सरकारी ई-मेल पर मिली 10 हजार शिकायतें

- in राष्ट्रीय
0

नई दिल्ली

2-thousand-note-300x200नोटबंदी के फैसले के बाद से अब तक काले धन के खिलाफ लड़ाई में एक ई-मेल आईडी सरकार के लिए बड़ा हथियार साबित हो रही है। सरकार ने कालेधन की शिकायत के लिए एक ईमेल आईडी (blackmoneyinfo@incometax.gov.in) जारी की है। महज 84 घंटों में इस मेल आईडी पर 10 हजार से ज्यादा ईमेल आ गए। नोटबंदी के बाद सरकार लगातार कालेधन पर शिकंजा कसने की कोशिश में लगी हुई है।

नोटबंदी के बाद से अभी तक 428 करोड़ का काला कैश बरामद हो चुका है। इतना ही नहीं, इनकम टैक्स ने 3 हजार करोड़ की अघोषित संपत्ति जब्त की है। केंद्र सरकार ने हाल में कालाधन रखने वालों को अपने पैसे सफेद करने के लिए एक और मौका दिया था। इस स्कीम के तहत शनिवार को ई-मेल आईडी (blackmoneyinfo@incometax. gov.in) जारी की गई थी, जिसके जरिए ब्लैक मनी की जानकारी सरकार को दी जा सकती थी।

सूत्रों की मानें तो देश के अलग अलग हिस्सों में लगातार हो रही छापेमारी के पीछे इसी ईमेल आईडी का बड़ा हाथ है और इसी के जरिए सरकार को कालेधन की सटीक जानकारी मिल रही है। खबरों के मुताबिक इस ईमेल आईडी पर भेजे जा रही जानकारियों को प्रवर्तन निदेशालय के साथ भी साझा किया जा रहा है। इतना ही नहीं यहां मिली जानकारियों को जांचा भी जा रहा है और सही पाए जाने पर संबंधित एंजेसियों को इनकी डिटेल भेजी जा रही है। इसी के आधार पर छापेमारी की जा रही है।

ई-मेल के जरिए काले धन की जानकारी देने वालों के नाम पते गुप्त रखे जा रहे हैं। वित्त मंत्रालय के एक अधिकारी ने इकनॉमिक टाइम्स अखबार को बताया कि इस ई-मेल आईडी पर अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा टैक्स अथॉरिटीज और दूसरी जांच एजेंसियों को फाइनेंशियल इंटेलिजेंस यूनिट (FIU) के जरिए बैंक अकाउंट्स में जमा और दूसरी अघोषित इनकम के बारे में रोजाना बहुत सी जानकारियां मिल रही है। FIU वित्त मंत्रालय का एक हिस्सा है। सरकार ने इसके जरिए प्राप्त जानकारी के आधार पर कार्रवाइ करना शुरू कर दिया है। इस व्यवस्था से बहुत-सा डेटा हमारे पास आ गया है। जिसके वजह से एजेंसियां इतना सटीक एक्शन ले पा रही है।

Leave a Reply