डॉएचे बैंकः झटके में जा रहीं 18000 नौकरियां

डॉएचे बैंकः झटके में जा रहीं 18000 नौकरियां

- in कारपोरेट
0

हॉन्ग कॉन्ग/न्यू यॉर्क

दुनियाभर में फैले डॉएचे बैंक के कर्मचारियों में एक डर फैल गया है। सोमवार का दिन कई कर्मचारियों के लिए कंपनी के साथ आखिरी दिन था। उन्होंने आखिरी बार अपनी डेस्क देखी। जर्मनी की इस कंपनी ने रीस्ट्रक्चरिंग का ऐलान किया और कुछ ही घंटों के अंदर कंपनी एचआर ने कर्मचारियों को विदाई का लिफाफा थमा दिया।

रविवार को बैंक ने इस बात की पुष्टि की कि वह अपने ट्रेडिंग बिजनस के बड़े हिस्से को बंद करने वाली है। योजना के मुताबिक, सिडनी और हॉन्ग कॉन्ग में कंपनी के इक्विटी डिविजन में काम करने वाले एम्प्लॉयीज को सबसे पहले अलविदा कहा जाएगा। सोमवार को हॉन्ग कॉन्ग ऑफिस छोड़कर जाने वाले बैंकर ने कहा, ‘अगर आपके पास मेरे लिए नौकरी है तो प्लीज मुझे बताएं।’ बैंक के हॉन्ग कॉन्ग ब्रांच से निकल रहे स्टाफ के हाथों में लिफाफे थे, जिनपर बैंक का लोगो था। तीन एम्प्लॉयीज ने बैंक के साइन बोर्ड के पास खड़े होकर अपनी तस्वीर ली, एक-दूसरे को गले लगाया और टैक्सी लेकर चले गए।

हाथ में लिफाफा और कंपनी से बाहर कर्मचारी
कंपनी में काम करने वाले एक इक्विटी ट्रेडर ने कहा, ‘आपको उनसे यह पैकेट मिलता है और आप कंपनी की बिल्डिंग से बाहर हो जाते हैं।’ एक अन्य कर्मी ने बताया, ‘इक्विटी मार्केट इन दिनों अच्छा नहीं चल रहा है, लिहाजा मुझे शायद ऐसा जॉब न मिले। मुझे इस स्थिति से निपटना होगा।’

एक-दूसरे को गुडबाय कह रहा था स्टाफ
जिन लोगों को विदाई का लिफाफा थमाया जाना था, उन्हें बैंक के वॉल स्ट्रीट ऑफिस के कैफेटेरिया में बुलाया गया था। बिल्डिंग की लॉबी में नोटिस लगाया गया था कि कैफेटेरिया सुबह 11:30 बजे तक ही खुला रहेगा। सूत्रों ने बताया कि मीटिंग के दौरान सैकड़ों कर्मचारियों को बता दिया गया था कि उनकी जॉब पोजिशन खत्म कर दी गई है। उन्हें उनके जॉब कट की जानकारी भी दे दी गई थी। एक सूत्र ने बताया कि सोमवार को कैफेटेरिया से बाहर निकल रहा स्टाफ एक-दूसरे को गुडबाय कहता हुआ नजर आ रहा था।

पहले से ही था जॉब कट का अंदेशा
बैंक के बाहर एक एंप्लॉयी ने रॉयटर्स को बताया कि इन जॉब कट्स का अंदेशा कई हफ्तों पहले से था। अपना नाम न जाहिर करने की शर्त पर उसने बताया, ‘लोग अपने अगले कदम को लेकर प्लानिंग कर रहे हैं, लेकिन मार्केट के हालात अभी ठीक नहीं हैं।’ एक अन्य एम्प्लॉयी ने कहा, ‘बैंक ने सुबह 9:30 बजे ऑडिटोरियम में एक छोटी-सी मीटिंग रखी थी, जिसमें स्टाफ को कटबैक के बारे में बताया था।’ उसने बताया कि बाद में उसे एक लिफाफा दिया गया जिसमें उसे हटाए जाने की जानकारी दी गई थी। कर्मचारी ने बताया कि उन्हें और उनके दोस्त को कई हफ्तों पहले से इस बारे में जानकारी थी कि कंपनी में छंटनी होने वाली है।

इक्विटी ट्रेडिंग पूरी तरह बंद करेगा बैंक
डॉएचे बैंक की योजना अपने सभी इक्विटी ट्रेडिंग बिजनस को बंद करने की है। वह अपने फिक्स्ड इनकम ऑपरेशंस के कुछ हिस्से भी बंद करेगा। कुल मिलाकर कंपनी 18 हजार कर्मचारियों की छंटनी करेगी। कुछ नौकरियां तुरंत प्रभाव से खत्म कर दी जाएंगी जबकि कुछ ऐसी हैं जिन्हें लंबे समय के बाद खत्म किया जाएगा।

हॉन्ग कॉन्ग के बाद लंदन में भी जॉब कट
हॉन्ग कॉन्ग में बैंक के कर्मियों के ऑफिस से निकलने के कुछ घंटों बाद लंदन में भी ऐसा ही नजारा दिखा। वहां भी कर्मचारियों के हाथों में लिफाफे थे। न्यू यॉर्क में भी ऐसे ही हाल है। एक आईटी वर्कर ने कहा, ‘आज सुबह मुझे टर्मिनेट कर दिया गया। एक छोटी सी मीटिंग हुई और फिर ऐसा हुआ।’ इक्विटी सेल्स में काम करने वाले एक शख्स ने कहा, ‘मेरी नौकरी चली गई। अब मैं और कहां जाऊंगा।’

जॉब कट की आंच दूर तक
बेंगलुरु में डॉएचे बैंक के एम्प्लॉयी ने बताया कि उन्हें और उनके कई साथियों को यह बता दिया गया है कि आपकी जॉब जाने वाली है। उन्होंने बताया कि हमें बता दिया गया है कि हमारी पोजिशंस अब नहीं रहीं और करीब एक महीने की सैलरी के साथ हमें विदाई के लेटर थमा दिए गए। उन्होंने आगे बताया, ‘स्थिति काफी निराशाजनक है, खासतौर से उन लोगों के लिए जो परिवार में अकेले कमाने वाले हैं या जिन्होंने किसी तरह का लोन ले रखा है।’इस मामले में हॉन्ग कॉन्ग और लंदन में बैंक के प्रवक्ताओं ने प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया। हालांकि इतना जरूर कहा है कि वे उन लोगों की मदद जरूर करेंगे जिनकी पोजिशंस खत्म की गई हैं।

Leave a Reply