बिहार में मर रहे बच्चे और नीतीश सरकार आम खा रही है: राबड़ी देवी

बिहार में मर रहे बच्चे और नीतीश सरकार आम खा रही है: राबड़ी देवी

पटना

बिहार में नीतीश कुमार और आरजेडी के बीच चल रहे आरोप प्रत्यारोप के बीच अब ‘आम’ पर सियासत शुरू हो गई है। बिहार विधानसभा में जारी मानसून सत्र के दौरान विधायकों और विधान पार्षदों को पौधे लगाने के लिए जागरूक करने के लिए कृषि विभाग द्वारा आम के पौधे देने के बाद अब आरजेडी ने इसे लेकर भी सरकार पर निशाना साधा है। इंसेफेलाइटिस के कारण तमाम बच्चों की जान जाने के बाद आरजेडी ने इस मुद्दे पर सरकार की आलोचना की है।

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) की नेता और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने इसे इंसेफेलाइटिस से जोड़ते हुए कहा कि एक तरफ प्रदेश में गरीब के बच्चे मर रहे हैं, वहीं सरकार आम खा रही है। उन्होंने यहां तक कहा कि जो आम खाएगा उन्हें गरीब बच्चों की हाय लगेगी। इधर, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और विधान पार्षद प्रेमचंद्र मिश्रा ने भी बीजेपी और जेडीयू पर आम वितरण को लेकर निशाना साधा।

मिश्रा ने कहा कि मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत का पाप धोने के लिए आम बांटे जा रहे हैं, इससे बड़ा दुर्भाग्य क्या होगा। उन्होंने कहा कि जो लोग यह आम खाएंगे, उनका पेट भी खराब हो जाएगा। आम बांटे जाने पर घिरी सरकार की ओर से सफाई देते हुए बिहार के उद्योग मंत्री श्याम रजक ने कहा,’इन दिनों पर्यावरण बेहद खतरनाक स्थिति में है। आम के पौधे वितरित कर लोगों को ज्यादा पेड़ लगाने का संदेश देने की कोशिश है, जिससे इस समस्या का समाधान हो सके।’

मंत्री ने कहा कि आम के पौधे वितरित करने से पौधे लगाने का संदेश पूरे राज्य में जाएगा और लोग इसे लेकर जागरूक होंगे। गौरतलब है कि बिहार में एईएस से अब तक 160 बच्चों की मौत हो गई है। विपक्ष इस मुद्दे को लेकर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के इस्तीफे पर अड़ा हुआ है।

Leave a Reply