वेस्ट यूपी में चुनावी जंग शुरू, सिंधिया नदारद

वेस्ट यूपी में चुनावी जंग शुरू, सिंधिया नदारद

मेरठ

लोकसभा चुनाव के पहले चरण की रणभेरी बज चुकी है और नामांकन शुरू हो गए हैं लेकिन कांग्रेस पार्टी के पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रभारी बनाए गए ज्योतिरादित्य सिंधिया चुनावी रणनीति बनाने में हिस्सा लेने अब तक यहां नहीं आए। पार्टी में इसे लेकर सिंधिया पर सवाल उठने शुरू हो गए हैं। इतना ही नहीं, टिकट वितरण में भी धांधली को लेकर सिंधिया पर पार्टी के भीतर सवाल उठाए जा रहे हैं। बता दें कि एमपी कांग्रेस के कद्दावर नेता सिंधिया को जब वेस्ट यूपी का प्रभारी बनाया गया था तब स्थानीय कांग्रेसियों का उत्साह चरम पर था लेकिन स्थानीय कांग्रेस नेताओं का कहना है कि प्रभारी की निष्क्रियता की वजह से कार्यकर्ताओं का उत्साह अब ठंडा पड़ गया है।

कांग्रेस ने चुनाव से पहले जिस तेवर के साथ प्रचार अभियान की शुरुआत की थी वह ठोस रणनीति के अभाव में कामयाब नहीं हो पा रही है। सिंधिया ने गिनी-चुनी बार वेस्ट यूपी का दौरा किया है। हालांकि, यहां के कुछ कांग्रेसी नेता जरूर दिल्ली जाकर सिंधिया से मिलते रहे हैं।

प्रियंका के साथ ही आए दो बार
सिंधिया जितनी बार भी यूपी में आए ईस्ट यूपी प्रभारी प्रियंका के साथ ही आए। वेस्ट यूपी में वह सिर्फ दो बार आए। एक बार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के साथ शामली जिले में शहीद सैनिकों के घर गए और दूसरी बार मेरठ में भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर से मिलने पहुंचे थे। तब भी प्रियंका उनके साथ थीं। सिंधिया लोकसभा चुनाव की रणनीति बनाने या टिकट वितरण के लिए कार्यकर्ताओं की राय जानने के लिए वेस्ट यूपी में सक्रिय नहीं दिखे।

टिकट वितरण में धांधली के आरोप
सिंधिया क्षेत्र में पार्टी के लिए रणनीति तय करने वाली बैठकों का हिस्सा भले कम रहे हों लेकिन उन पर टिकट वितरण में धांधली और टिकट बेचने के आरोप इस बीच जरूर लग गए हैं। उनके साथ उनके सहयोगी राणा गोस्वामी पर भी यह आरोप लगाए गए हैं। गौतमबुद्धनगर में बीजेपी नेता के बेटे को टिकट देने को लेकर सिंधिया पर सवाल उठाए गए। कांग्रेस प्रवक्ता हरिकिशन वर्मा का कहना है कि सिंधिया की देख-रेख में ही सारी चुनावी रणनीति दिल्ली वॉर-रूम से चल रही है। वेस्ट यूपी के दिल्ली से सटा होने की वजह से वहीं पर बैठकों का दौर भी चलता है। सह प्रभारी लगातार वेस्ट यूपी में दौरे कर अपनी रिपोर्ट सिंधिया को दे रहे हैं।

Leave a Reply