आदर्श आचार संहिता का सख्ती से पालन सुनिश्चित करें : सीईओ श्री कांताराव

आदर्श आचार संहिता का सख्ती से पालन सुनिश्चित करें : सीईओ श्री कांताराव

सागर, रीवा, नर्मदापुरम संभाग में तैयारियों की समीक्षा

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री व्ही.एल. कांताराव ने आज सागर में रीवा, सागर और नर्मदापुरम संभाग में लोकसभा चुनाव-2019 की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि स्वतंत्र, निष्पक्ष और पारदर्शी चुनाव संपन्न कराने के लिए आदर्श आचार संहिता के प्रावधानों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करें। इस मौके पर भारत निर्वाचन आयोग के अवर सचिव श्री संतोष कुमार, अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री अरूण कुमार तोमर, संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री अभिजीत अग्रवाल, आईजी कानून-व्यवस्था श्री योगेश चौधरी, आईजी निर्वाचन व्यय श्री अनन्त कुमार सिंह, आईजी नारकोटिक्स श्री जी.जी. पांडेय, सयुंक्त निदेशक आयकर श्री प्रशांत कुमार मिश्रा, आबकारी आयुक्त श्री रजनीश श्रीवास्तव, तीनों सम्भाग के  संभागायुक्त, पुलिस महानिरीक्षक तथा सभी 11 जिलों के कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक मौजूद थे। 

श्री कान्ताराव ने कलेक्टरों से ईव्हीएम एवं व्हीव्हीपेट मशीन की उपलब्धता और आवश्यकता, चुनाव के लिये उपलब्ध मानव संसाधन एवं उनका प्रशिक्षण, वाहनों की जरूरत, वल्नरेबल एवं क्रिटिकल बूथ पर सुरक्षा इंतजामों की जिलेवार जानकारी प्राप्त की। उन्होंने आचार संहिता एवं निर्वाचन नियमों के उल्लंघन सम्बन्धी शिकायतें प्राप्त करने के लिये  जिलों में स्थापित कंट्रोल रूम और जिला सम्पर्क केंद्र के टोल फ्री नम्बर 1950 के व्यापक प्रचार-प्रसार के निर्देश दिए। साथ ही सीमावर्ती जिलों में प्रवेश मार्गों पर कड़ी निगरानी के लिये पड़ोसी राज्य के अधिकारियों के साथ लगातार सम्पर्क बनाये रखने को कहा। आम जनता में जागरूकता के लिए किए जा रहे कार्यों की जानकारी भी ली। उन्होंने लोकसभा चुनाव में चुनाव खर्च की दृष्टि से संवेदनशील क्षेत्रों तथा वल्नरेबल पॉकेट्स में निगरानी तंत्र को मजबूत करने को कहा। उन्होंने कहा कि गैर कानूनी तरीके से चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश करने वालों से सख्ती से निपटें।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री कांता राव ने आदर्श आचार संहिता, सम्पत्ति विरूपण, आबकारी अधिनियम तथा निर्वाचन नियमों के उल्लंघन की शिकायतों पर तत्काल कार्यवाही करने के निर्देश दिए और अभी तक की गई कार्यवाही की समीक्षा की। उन्होंने चुनाव में धनबल और बाहुबल को रोकने के लिए जिलों में गठित एफएसटी और एसएसटी दलों को ज्यादा सक्रिय करने की जरूरत बताई। श्री राव ने चुनाव प्रक्रिया के दौरान कानून-व्यवस्था बनाये रखने के लिए जिलों में किये जा रहे सुरक्षा इंतजामों की जानकारी भी ली।                     

श्री कांताराव ने प्रतिबंधित धाराओं के तहत आपराधिक तत्वों के विरुद्ध  बाउंड ओवर कार्यवाही करने के निर्देश दिए।  मतदान केंद्रों पर सभी जरूरी सुविधाएँ सुनिश्चित करने पर बल देते हुए उन्होंने विधानसभा चुनाव-2018 के मुकाबले लोकसभा चुनाव-2019 में  मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिये स्वीप गतिविधियों को विस्तारित करने पर बल दिया। साथ ही, महिला मतदाताओं को मतदान करने के लिये जागरूक करने के निर्देश दिये। उन्होंने दिव्यांग मतदाताओं को मतदान केन्द्रों पर सभी आवश्यक सुविधाएँ उपलब्ध कराने के लिये कहा। श्री कांता राव ने समीक्षा के पहले मतदाता जागरूकता कार्यक्रम के अंतर्गत महिला बाईसिकल रैली को रवाना किया।

सौ. जनसम्पर्क विभाग
दाहिमा/वीरेन्द्र सिंह गौर

 

Leave a Reply