मजाक उड़ाएं, पर सवालों के जवाब तो दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी : राहुल

मजाक उड़ाएं, पर सवालों के जवाब तो दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी : राहुल

- in राजनीति
0

बहराइच

rahulbehraich-300x224प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लगातार दूसरे दिन हमला जारी रखते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को कहा कि मोदी भले उनका मजाक उड़ा लें, पर उन्हें सवालों के जवाब देने चाहिए। बुधवार को गुजरात के मेहसाणा में मोदी पर लगाए आरोपों को दोहराते हुए राहुल ने शायराना अंदाज में कहा, ‘मैं गालिब के शब्दों में कहता हूं…हर एक बात पे कहते हो तुम कि तू क्या है, तुम्हीं कहो कि ये अंदाज-ए-गुफ्तगू क्या है।’ इसके अलावा राहुल ने नोटबंदी को लेकर भी मोदी सरकार पर तीखे हमले जारी रखे और इसे गरीबों के खिलाफ हमला करार दिया।

कांग्रेस के मिशन यूपी के तहत बहराइच में लोगों को संबोधित करते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, ‘कल मैंने गुजरात में पीएम मोदी से दो-तीन सवाल भ्रष्टाचार के बारे में पूछे। उन्होंने सवालों के जवाब नहीं दिए, मगर जो सवाल पूछ रहा था उसका मजाक उड़ा दिया। आप मेरा मजाक उड़ाओ, मगर देश के युवाओं के और मेरे सवालों का जवाब दे दो। गालिब का भी मजाक उड़ाया गया था। मैं उनकी भाषा में जवाब दूं…हर एक बात पे कहते हो कि तू क्या है, तुम्हीं कहो कि ये अंदाज-ए-गुफ्तगू क्या है।’

पीएम पर निशाना साधते हुए राहुल ने कहा, ‘कालाधन उनके पास नहीं है जो लाइन में खड़े हैं, कालाधन उनके पास है जो आपके साथ हवाई जहाज में जाते हैं।’ प्रधानमंत्री पर किसानों की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, ‘किसान रोज आत्महत्या कर रहे हैं, हम पीएम के पास इन समस्याओं को लेकर गए, पर उन्होंने एक शब्द तक नहीं कहा।’

नोटबंदी को लेकर सरकार की मंशा पर सवाल खड़े करते हुए राहुल ने कहा, ‘पहले कहा कि काला धन कैश में है, फिर आतंकवाद की बात करने लगे…इसके बाद आतंकवादियों के पास 2000 का नोट मिला तो मोदी जी नकली नोटों की ओर दौड़ पड़े। उन्होंने कहा कि यह जो हमने कदम उठाया वह नकली नोटों के खिलाफ था। जब हमने संसद में पूछा कि नकली नोट कितने हैं तो बताया गया कि 100 रुपये में से सिर्फ 2 पैसे नकली हैं। फिर कैशलेस इकॉनमी की बात होने लगी। नोटबंदी का सिर्फ एक मकसद है…गरीबों से खींचो, अमीरों को सींचो।’

इसके अलावा कैशलेस इकॉनमी को लेकर भी राहुल ने मोदी पर तंज कसा। उन्होंने कहा,’मोदी जी ने बहराइच में फोन पर भाषण दिया था, लाइन इतनी खराब थी कि कुछ सुनाई नहीं दिया। ऐसे फोन से पैसे ट्रांसफर होंगे?’ राहुल ने कहा कि वह कैशलेस इकॉनमी के खिलाफ नहीं हैं, पर इसे थोपा नहीं जाना चाहिए।

संबोधन के दौरान अजान की आवाज आने पर राहुल ने अपना भाषण कुछ देर रोक दिया। उन्होंने पीएम मोदी के खिलाफ वही आरोप फिर से दोहराए जो उन्होंने गुजरात के मेहसाणा में बुधवार को लगाए थे। उन्होंने इनकम टैक्स विभाग के उन कथित दस्तावेजों को ऊपर उठा कर दिखाते हुए कहा कि यही वे दस्तावेज हैं, देख लो।

Leave a Reply