IPL क्वॉलिफायर : चेन्नै को हराकर मुंबई की पांचवीं बार फाइनल में एंट्री

IPL क्वॉलिफायर : चेन्नै को हराकर मुंबई की पांचवीं बार फाइनल में एंट्री

- in खेल
0

चेन्नै

मुंबई इंडियंस ने आईपीएल-12 के पहले क्वॉलिफायर में मंगलवार को 3 बार की चैंपियन टीम चेन्नै सुपर किंग्स को 6 विकेट से हराकर फाइनल में जगह पक्की कर ली। महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली टीम चेन्नै ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 4 विकेट पर 131 रन बनाए। इसके बाद मुंबई टीम ने 18.3 ओवर में 4 विकेट पर 132 रन बनाकर मैच जीत लिया। इस जीत के साथ ही मुंबई ने पांचवीं बार आईपीएल के फाइनल में एंट्री की। वहीं, चेन्नै को अब एलिमिनेटर जीतने वाली टीम से क्वॉलिफायर-2 में भिड़ना होगा।

सूर्यकुमार की मैच विजयी पारी
मुंबई के लिए सूर्यकुमार यादव ने सर्वाधिक 71 रन का योगदान दिया। तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए सूर्यकुमार अंत तक नाबाद रहे। उन्होंने ईशान किशन (28) के साथ तीसरे विकेट के लिए 80 रन की साझेदारी की। सूर्यकुमार यादव ने 54 गेंदों की अपनी नाबाद पारी में 10 चौके जड़े। उन्होंने 37 गेंदों पर चौके के साथ आईपीएल करियर का 7वां अर्धशतक भी पूरा किया। हार्दिक पंड्या 13 रन बनाकर नाबाद रहे।

जल्दी लौटे मुंबई के ओपनर
मुंबई टीम के दोनों ओपनर 21 रन के टीम स्कोर तक पविलियन लौट गए। कप्तान रोहित शर्मा (4) को पारी के पहले ओवर की दूसरी गेंद पर दीपक चाहर ने LBW आउट कर दिया। हरभजन सिंह ने क्विंटन डि कॉक (8) को शिकार बनाया और उन्हें डु प्लेसिस ने लपका। इसके बाद सूर्यकुमार यादव ने ईशान किशन के साथ मिलकर टीम की जीत की नींव रखी।

ताहिर ने 1 ही ओवर में ईशान और क्रुणाल को बनाया शिकार
स्पिनर इमरान ताहिर ने पारी के 14वें ओवर की अंतिम 2 गेंदों पर मुंबई को 2 झटके दिए। उन्होंने 5वीं गेंद पर ईशान को शिकार बनाया और बोल्ड कर पविलियन की राह दिखा दी। फिर अगली ही गेंद पर क्रुणाल को कैच कर मुंबई को 101 के टीम स्कोर पर चौथा झटका दिया।

लेग स्पिनर राहुल चाहर की अगुआई में गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन से मुंबई इंडियंस ने चेन्नै टीम को 4 विकेट पर 131 रन पर रोक लिया। चेन्नै ने राहुल चाहर (14 रन देकर 2 विकेट), कृणाल पंड्या (21 रन पर 1 विकेट) और जयंत यादव (25 रन पर 1 विकेट) की फिरकी के सामने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए और टीम कभी बड़े स्कोर की ओर बढ़ती नहीं दिखी।

रायुडू और धोनी की अर्धशतकीय साझेदारी
मेजबान टीम चेन्नै की ओर से अंबाती रायुडू ने 37 गेंद में 3 चौकों और 1 छक्के की मदद से नाबाद 42 रन बनाने के अलावा कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (29 गेंद में नाबाद 37, 3 छक्के) के साथ पांचवें विकेट के लिए 66 रन की अटूट साझेदारी की। इन दोनों के अलावा मुरली विजय (26) ही 20 रन के आंकड़े को पार कर पाए। धोनी और रायुडू ने जयंत के 14वें ओवर में 1-1 छक्का जड़कर रन गति बढ़ाने की कोशिश की। रायुडू ने बुमराह पर चौके के साथ 18वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया। धोनी ने 19वें ओवर में मलिंगा पर लगातार 2 छक्के मारे।

मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर सुपर किंग्स को पहले बल्लेबाजी करने का न्योता दिया जिसके बाद गेंदबाजों ने मेहमान टीम को शानदार शुरुआत दिलाई। लेग स्पिनर राहुल चाहर ने तीसरे ओवर में ही फाफ डु प्लेसिस (5) को पॉइंट पर स्थानापन्न खिलाड़ी अनमोलप्रीत सिंह के हाथों कैच करा दिया। सुरेश रैना ने ऑफ स्पिनर जयंत यादव की गेंद पर फ्री हिट पर चौका मारा लेकिन इसी ओवर में गेंद को हवा में लहराकर गेंदबाज को वापस कैच दे बैठे। उन्होंने 5 रन बनाए। सलामी बल्लेबाज शेन वॉटसन (10) ने जसप्रीत बुमराह पर 2 चौके मारे लेकिन क्रुणाल पंड्या की गेंद पर मिड ऑन पर जयंत को कैच दे बैठे जिससे पावर प्ले में टीम का स्कोर 3 विकेट पर 32 रन हो गया।

विजय और रायुडू ने इसके बाद पारी का आगे बढ़ाया। विजय ने क्रुणाल पर 2 चौके जड़ने के बाद राहुल पर भी चौका मारा। टीम के रनों का अर्धशतक 10वें ओवर में पूरा हुआ। रन गति को बढ़ाने की कोशिश में विजय का धैर्य जवाब दे गया और वह राहुल की गेंद को आगे बढ़कर खेलने की कोशिश में क्विंटन डि कॉक के हाथों स्टंप हो गए। उन्होंने 26 गेंद में 3 चौकों की मदद से 26 रन बनाए।

Leave a Reply