ईरान का रेवॉल्यूशनरी गार्ड्स आतंकी संगठन: US

ईरान का रेवॉल्यूशनरी गार्ड्स आतंकी संगठन: US

वॉशिंगटन

ईरान पर कई प्रतिबंध लगाने के बाद अमेरिका ने अब उसके रेवॉल्यूशनरी गार्ड्स को आतंकवादी संगठन घोषित कर दिया है। अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने सोमवार को घोषणा की कि अमेरिका ईरान के विशिष्ट सैन्य बल ‘रेवॉल्यूशनरी गार्ड कार्प’ को एक आतंकवादी संगठन घोषित कर रहा है। ट्रंप ने एक बयान में कहा कि यह अप्रत्याशित कदम यह याद दिलाता है कि ईरान न सिर्फ आतंकवाद प्रायोजित करने वाला देश है बल्कि आईआरजीसी आंतकवाद को धन मुहैया कराने और उसे बढ़ावा देने में सक्रियता से लगा है।’

विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने ट्वीट में कहा, ‘ईरान सरकार के आतंकवाद के मुकाबले के लिए अमेरिका ने कुद्स फोर्स सहित इस्लामिक रेवॉल्यूशनरी गार्ड्स को आतंकवादी संगठन घोषित किया है। हमें आजादी पाने में ईरान के लोगों की मदद करनी चाहिए।’

रेवॉल्यूशनरी गार्ड्स ईरान के आर्म्ड फोर्स का हिस्सा है। इस्लामिक रेवॉल्यूशनरी गार्ड्स कॉर्प का गठन 1979 इस्लामी क्रांति के बाद किया गया था। देश की पारंपरिक सैन्य इकाइयां सीमाओं की रक्षा करती हैं जबकि इसके विपरीत रेवॉल्यूशनरी गार्ड्स देश में इस्लामी गणतंत्र प्रणाली की रक्षा करता है।

पॉम्पियो ने कहा, ‘ईरान के नेता क्रांतिकारी नहीं रैकेटियर हैं।’ उन्होंने कहा, ‘विश्वभर के व्यापारियों और बैंकों की अब यह स्पष्ट जिम्मेदारी है कि वे यह सुनिश्चित करें कि जिन कंपनियों के साथ वे वित्तीय लेनदेन कर रहे हैं किसी भी तरह से आईआरजीसी के साथ जुड़ी नहीं हों।’ ट्रंप प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यह नया कदम गार्ड्स के साथ किसी भी प्रकार के संपर्क को अपराध के दायरे में लाएगा।

‘द वॉल स्ट्रीट जर्नल’ ने शुक्रवार को ही यह खबर दी थी। इसके बाद ईरान ने अमेरिका को चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर वॉशिंगटन की तरफ से ऐसा कुछ किया गया तो फिर तेहरान भी अमेरिकी सेना को आतंकियों की तरह ब्लैक लिस्ट कर देगा। ट्रंप सरकार ने पिछले साल अमेरिका को ईरान परमाणु समझौते से बाहर खींचते हुए उस पर फिर से कई सख्त प्रतिबंध लगाए थे जिससे इस इस्लामिक देश को बड़ा आर्थिक झटका लगा है।

ईरान के एक सांसद ने कहा था कि अगर अमेरिका रेवॉल्यूशनरी गार्ड को आतंकी संगठन घोषित करता है तो बदले में तेहरान भी अमेरिकी सेना को दाएश तकफिरी आतंकी संगठन की तरह बैन कर देगा। ईरानी संसद की राष्ट्रीय सुरक्षा कमिटी के चेयरमैन हेशमातोल्ला ने ट्वीट किया, ‘अगर रेवॉल्यूशनरी गार्ड को अमेरिका आतंकी संगठनों की सूची में डालता है, हम अमेरिकी सैनिकों को दाएश की तरह ब्लैकलिस्ट कर देंगे।’

Leave a Reply