जेट संकट: भारी तनाव में छत से कूदकर दी जान, बेटा भी एंप्लॉयी

जेट संकट: भारी तनाव में छत से कूदकर दी जान, बेटा भी एंप्लॉयी

- in राष्ट्रीय
0

मुंबई

अस्थायी रूप से बंद एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज के सीनियर टेक्निशियन ने 4 मंजिला इमारत की छत से कूदकर जान दे दी। कहा जा रहा है कि वह कैंसर की बीमारी और आर्थिक तंगी के चलते बेहद तनाव में थे। 45 साल के शैलेश सिंह ने पालघर के नालासोपारा ईस्ट इलाके में स्थित 4 मंजिला इमारत से कूदकर आत्महत्या कर ली। हाल ही में विमानों का संचालन अस्थायी रूप से ठप करने वाली जेट एयरवेज एयरलाइन के स्टाफ और एंप्लॉयी असोसिएशन के मुताबिक वह आर्थिक संकट से गुजर रहे थे।

बता दें कि जेट एयरवेज के करीब 20,000 एंप्लॉयीज को कई महीनों से सैलरी नहीं मिल सकी है। यही नहीं ऑपरेशंस के लिए भी पूंजी का अभाव होने के चलते कंपनी ने विमानों को भी जमीन पर उतार लिया है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘वह कैंसर से जूझ रहे थे और इन दिनों उनकी कीमोथेरेपी चल रही थी। प्रारंभिक जांच में यह बात सामने आई है कि उन्होंने बीमारी से डिप्रेशन के चलते अपनी जान दे दी।’

जेट एयरवेज के एंप्लॉयीज ने बताया कि कंपनी का कामकाज बंद होने के बाद यह पहला मामला है, जब किसी कर्मचारी ने अपनी जान दे दी। परिवार में आर्थिक संकट की वजह यह भी थी कि पिता और पुत्र दोनों ही जेट एयरवेज में कार्यरत थे। शैलेश सिंह का बेटा कंपनी के ऑपरेशंस डिपार्टमेंट में काम करता था।शैलेश सिंह अपने पीछे पत्नी, दो बेटों और दो बेटियों को छोड़ गए हैं। पुलिस अधिकारी ने बताया कि दुर्घटनावश मौत का मामला दर्ज कर जांच की जा रही है।

Leave a Reply