जोमैटो मामला: ऋचा चड्ढा का जवाब- ज्यादा नफरत से एसिडिटी होती है

जोमैटो मामला: ऋचा चड्ढा का जवाब- ज्यादा नफरत से एसिडिटी होती है

- in ग्लैमर
0

नई दिल्ली,

ऑनलाइन फूड सर्विस वेबसाइट जोमैटो इन दिनों सुर्ख‍ियों में बनी हुई है. इसकी वजह भी दिलचस्प है, दरअसल एक ग्राहक ने जोमैटो के डिलीवरी बॉय से सिर्फ इसलिए खाना नहीं लिया क्योंकि वह मुस्लिम था. इस मामले के सोशल मीडिया पर आते ही जोमैटो ने खाना वापस करने वाले शख्स को करारा जवाब देते हुए कहा, खाने का कोई धर्म नहीं होता, खाना खुद एक धर्म है. जोमैटो के जवाब से सोशल मीडिया पर फैंस काफी इम्प्रेस हैं. इस मामले पर एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा ने मजेदार ट्वीट किया है.

ऋचा चड्ढा ने जोमैटो का खाना धर्म के नाम पर वापस करने वाले कस्टमर के ट्वीट का स्क्रीनशॉट लगाते हुए लिखा, ज़्यादा नफ़रत नहीं करते, एस‍िड‍िटी हो जाती है. ठंड रख, जो खाना है, खा ले! अनाउंस क्यूं करता है , ट्व‍िटर पे थाली चम्मच ले के शोर ही मचता है, असल में थाली चम्मच नहीं मिलता खाना खाने के लिए दोस्त. ऋचा चड्ढा के कमेंट पर यूजर्स के मजेदार कमेंट आने शुरू हो गए हैं.

क्या है पूरा मामला
जोमैटो से अमित शुक्ला नाम के एक कस्टमर ने खाना मंगवाया था. खाना डिलीवरी के पते पर पहुंचने के बाद उसे अमित ने वापस कर दिया और ट्वीट में लिखा था, “जोमेटो हमें उन व्यक्तियों से खाना लेने के लिए कहता है कि जिनसे हम नहीं लेना चाहते. इसके अलावा वह हमारे पैसे भी वापस नहीं करता है. ऐसे में मैं इस एप को अपने फोन से रिमूव कर रहा हूं और इस मुद्दे पर अपने वकील से भी बातचीत करूंगा.”

अमित शुक्ला के इस ट्वीट पर जोमैटो ने जवाब देते हुए लिखा- खाने का कोई धर्म नहीं होता, खाना खुद एक धर्म है. इसके बाद जोमैटो के फाउंडर दीपेंद्र गोयल ने ट्व‍िटर पर जवाब देते हुए लिखा- हम भारत के विचारों और हमारे ग्राहकों-पार्टनरों की विविधता पर गर्व करते हैं. हमारे इन मूल्यों की वजह से अगर बिजनेस को किसी तरह का नुकसान होता है तो हमें इसके लिए दुख नहीं होगा.सोशल म‍ीडिया पर ये ट्वीट वायरल हो रहे हैं. जहां जोमैटो के जवाब की तारीफ हो रही है. वहीं अमित शुक्ला नाम के कस्टमर को जमकर ट्रोल किया जा रहा है.

Leave a Reply