कोटा फिर बना ‘कब्रगाह’, 4 दिन में 3 छात्रों ने लगाई फांसी

कोटा फिर बना ‘कब्रगाह’, 4 दिन में 3 छात्रों ने लगाई फांसी

नई द‍िल्ली,

राजस्थान के कोटा में मंगलवार को एक 17 साल के स्टूडेंट का शव उसके हॉस्टल के कमरे में पंखे से लटका मिला. जितेश गुप्ता, बिहार का रहने वाला था और IIT-JEE प्रवेश परीक्षा के लिए कोटा में कोचिंग क्लास लेता था. वह 3 साल से क्लास ले रहा था लेकिन सफल नहीं हो पा रहा था.

सुबह जितेश के रिश्तेदारों ने उस तक पहुंचने की कोशिश की थी. जब उन्हें इसमें सफलता नहीं म‍िली तो उन्होंने एक दोस्त को फोन किया और ज‍ितेश के बारे में पता करने को कहा. दोस्त ने खिड़की से कमरे के अंदर देखा तो उसने जितेश को छत के पंखे से लटका पाया. इसके बादतुरंत पुलिस को सूचना दी गई. शव को महाराव भीम सिंह अस्पताल ले जाया गया जहां उसे मोर्चरी में रखा गया है. लड़के के परिजनों को सूचित कर दिया गया है. कमरे में कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है.

जांच अधिकारी ने बताया क‍ि जब सूचना मिली कि एक छात्र ने हॉस्टल में आत्महत्या कर ली है. पुलिस को स्टूडेंट का शव पंखे से लटका मिला. शव को पोस्टमार्टम के ल‍िए भेज द‍िया गया है और र‍िश्तेदारों को सूचना भेज दी गई है. मौके से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है.

सोमवार को भी कुशीनगर ज‍िले की रहने वाली 18 साल की दिशा सिंह ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी. सूचना मिलने पर कुन्हाड़ी थाने की पुलिस छात्रावास पहुंची थी. छात्रा के शव को एमबीबीएस की मोर्चरी में रखवाया गया है. लड़की की बड़ी बहन भी कोटा में तैयारी कर रहीहै.

एसआई नेक मोहम्मद ने बताया क‍ि मृतक छात्रा कुशीनगर की रहने वाली थी और मेडिकल की तैयारी कर रही थी. वह पिछले 6 महीने से यहां रह रही थी. उसकी बड़ी बहन भी यहां रहकर तैयारी कर रही है. उसे सूचित कर दिया गया है. फिलहाल, सुसाइड नोट की जांच के बाद पता चलेगा। ”

गौरतलब है क‍ि 17 दिसम्बर को कुन्हाड़ी क्षेत्र के लैंडमार्क सिटी में हॉस्टल में रहकर मेडिकल की तैयारी कर रहे जम्मू कश्मीर के 20 साल के छात्र संजीव कुमार का शव हॉस्टल के कमरे में फांसी पर लटका मिला था. इसके बाद भी छात्रों की आत्महत्या का यह सिलसिला जारी रहा.शनिवार को 12वीं की कोचिंग कर रहे छात्र बूंदी जिले के रहने वाले 17 साल के दीपक दाधीच ने आरकेपुरम स्थित कोचिंग संस्थान के खाली पड़े कमरे में फांसी लगा कर मौत को गले लगा ल‍िया था.

आरकेपुरम पुलिस इस मामले में कोई कार्रवाई करती इससे पहले लैंडमार्क सिटी स्थित हॉस्टल में रहकर एक कोचिंग संस्थान से मेडिकल की तैयारी कर रही उत्तरप्रदेश में कुशीनगर ज‍िले की रहने वाली 18 साल की छात्रा दिशा सिंह ने हॉस्टल के कमरे में फांसी लगा कर जान दे दी.इस साल जनवरी के बाद से कोटा जिले में 15 से अधिक आत्महत्याएं हुई हैं.

Leave a Reply