ब्लॉग लिख लालकृष्ण आडवाणी ने भाजपा को दी 5 नसीहतें

ब्लॉग लिख लालकृष्ण आडवाणी ने भाजपा को दी 5 नसीहतें

- in राजनीति
0

नई दिल्ली

भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने पार्टी के स्थापना दिवस (6 अप्रैल) के मौके पर गुरुवार को ब्लॉग लिखा। आडवाणी ने लिखा कि भाजपा ने कभी भी राजनीतिक मतभेद रखने वालों को दुश्मन नहीं माना, बल्कि केवल विरोधी समझा। उन्होंने लिखा कि ऐसे लोगों को हमने कभी राष्ट्र विरोधी नहीं कहा।

आडवाणी के भाजपा को 5 संदेश

  • – आडवाणी ने लिखा- राष्ट्रवाद के भाजपा सिद्धांत में हमने कभी ऐसे लोगों को राष्ट्रविरोधी नहीं कहा, जो हमसे राजनीतिक मतभेद रखते थे। पार्टी निजी और राजनीतिक स्तर पर हमेशा हर नागरिक के चुनाव की स्वतंत्रता के लिए प्रतिबद्ध रही।
  • -“पार्टी के भीतर और राष्ट्रीय स्तर पर लोकतंत्र और लोकतांत्रिक परंपराओं की सुरक्षा भाजपा की गौरवपूर्ण विशिष्टता रही है।’
  • -“भाजपा हमेशा से ही सभी लोकतांत्रिक संस्थानों की स्वतंत्रता, अखंडता, निष्पक्षता और मजबूती के लिए आवाज उठाने में सबसे आगे रही है।’
  • -उन्होंने लिखा- यह सच है कि चुनाव लोकतंत्र का उत्सव होते हैं। लेकिन, यह भारतीय लोकतंत्र के सभी भागीदारों के लिए ईमानदारी से आत्मावलोकन का अवसर भी हैं।
  • -“6 अप्रैल को भाजपा अपने स्थापना दिवस का उत्सव मनाएगी। यह हम सभी के लिए अतीत और भविष्य में देखने के साथ-साथ अपने भीतर झांकने का महत्वपूर्ण अवसर है।’

भाजपा कार्यकर्ता होने के नाते मुझे गर्व है- मोदी
आडवाणी के ब्लॉग पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर लिखा, “आडवाणीजी ने सही अर्थों में भाजपा का मतलब बताया। भाजपा का मूल मंत्र पहले राष्ट्र, फिर पार्टी और अंत में खुद। भाजपा कार्यकर्ता होने के नाते मुझे अपने ऊपर गर्व है। मुझे गर्व है कि आडवाणीजी जैसे महान लोगों ने इसे मजबूत किया।”

Leave a Reply