लोकसभा चुनाव : छठे चरण में 7 राज्यों की 59 सीटों पर वोटिंग संडे को

लोकसभा चुनाव : छठे चरण में 7 राज्यों की 59 सीटों पर वोटिंग संडे को

नई दिल्ली

लोकसभा चुनाव के छठे दौर के लिये 12 मई को होने वाले मतदान के लिये शुक्रवार शाम को प्रचार अभियान थम गया। इस दौर में सात राज्यों की 59 लोकसभा सीटों पर मतदान होगा। निर्वाचन आयोग ने छठे चरण के चुनाव के लिए शुक्रवार को विभिन्न सीटों पर शाम चार बजे से छह बजे के बीच प्रचार थमने से पहले इस चरण में किस्मत आजमा रहे उम्मीदवारों की अंतिम सूची जारी कर दी। पिछले पांच चरण के चुनाव में 543 लोकसभा सीटों में से अब तक 424 सीटों पर मतदान हो चुका है। छठे चरण में दिल्ली की सभी सात और हरियाणा की सभी दस सीटों के अलावा उत्तर प्रदेश की 14, बिहार, मध्य प्रदेश और पश्चिम बंगाल की आठ-आठ और झारखंड की चार सीटों पर मतदान होगा।

चुनाव आचार संहिता के प्रावधानों के मुताबिक, मतदान से पहले 48 घंटे की अवधि में उम्मीदवार किसी भी माध्यम से प्रचार अभियान नहीं कर सकते हैं। आयोग द्वारा जारी छठे चरण की अधिसूचना के मुताबिक, आगामी रविवार को जिन राज्यों में मतदान होना है , उनमें बिहार और झारखंड को छोड़कर अन्य राज्यों की सभी सीटों पर सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक मतदान होगा। बिहार की बाल्मीकि नगर और वैशाली लोकसभा क्षेत्र के नक्सल प्रभावित पांच विधानसभा सीटों और झारखंड की गिरिडीह, जमशेदपुर और सिंहभूमि लोकसभा क्षेत्रों में सुबह सात बजे से शाम चार बजे तक मतदान होगा। इन क्षेत्रों में शुक्रवार शाम चार बजे प्रचार अभियान थम गया।

अधिसूचना के अनुसार छठे चरण में झारखंड की धनबाद के अलावा उत्तर प्रदेश , दिल्ली और हरियाणा सहित अन्य राज्यों की सभी सीटों पर सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक मतदान होगा। इन सीटों पर शुक्रवार शाम छह बजे प्रचार अभियान बंद हो गया। आयोग ने 48 घंटे की प्रचार वर्जित अवधि (साइलेंट पीरियड) में प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से प्रचार को रोकने पर निगरानी के पुख्ता इंतजाम किये हैं। इस दौरान प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के अलावा सोशल मीडिया पर भी उम्मीदवार प्रचार नहीं कर सकेंगे।

आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि साइलेंट पीरियड में प्रचार पर रोक को सुनिश्चित करने के लिये आयोग की शिकायत निवारण प्रणाली को सुचारु रखा गया है। इसके माध्यम से कोई भी व्यक्ति इसके उल्लंघन की शिकायत आयोग के मोबाइल एप , ऑनलाइन और पत्राचार के माध्यम से शिकायत कर सकेंगे। दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी रणबीर सिंह ने बताया कि राजधानी की सभी सात सीटों पर मतदान की तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं। मतदान के दौरान सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित करते हुये मतदान केन्द्रों को सीसीटीवी कैमरों से लैस कर इन पर केन्द्रीय सुरक्षा बलों की तैनाती की गयी है। उन्होंने बताया कि मतदाताओं, खासकर दिव्यांग मतदाताओं की सहायता के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं।

दिल्ली में 523 संवेदनशील मतदान स्थलों पर अतिरिक्त सुरक्षा एवं निगरानी इंतजाम किए गए हैं। छठे चरण के लिये आयोग द्वारा जारी उम्मीदवारों की सूची के अनुसार इस चरण के चुनाव मैदान में कुल 979 प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे हैं। इनमें दिल्ली की सात सीटों के लिए कांग्रेस, बीजेपी और आप सहित विभिन्न दलों के 164 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इस चरण के चुनाव में किस्मत आजमा रहे उम्मीदवारों में उत्तर प्रदेश की आजमगढ़ से एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव , केन्द्रीय मंत्री मेनका गांधी सुल्तानपुर से बीजेपी के टिकट पर, मध्य प्रदेश में केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर बीजेपी उम्मीदवार के रूप में मुरैना सीट से, भोपाल से राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह कांग्रेस से एवं साध्वी प्रज्ञा सिंह बीजेपी उम्मीदवार के रूप में तथा गुना से कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया शामिल हैं। इसके अलावा हरियाणा में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में और राव इंद्रजीत सिंह गुड़गांव से बतौर बीजेपी उम्मीदवार और जेजेपी अध्यक्ष दुष्यंत चौटाला हिसार से चुनाव मैदान में हैं।

दिल्ली की सात सीटों पर भी मुकाबला दिलचस्प है। पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित बतौर कांग्रेस उम्मीदवार उत्तर पूर्वी दिल्ली सीट से और केन्द्रीय मंत्री हर्षवर्धन बीजेपी के टिकट पर चांदनी चौक सीट पर किस्मत आजमा रहे हैं। बिहार में केन्द्रीय मंत्री राधामोहन सिंह पूर्वी चंपारण सीट से भाजपा के टिकट पर और वैशाली से रघुवंश प्रसाद सिंह बतौर राजद उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इच चरण में राज्य की पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण और वैशाली के अलावा शिवहर, महराजगंज, बाल्मीकि नगर, गोपालगंज और सिवान सीट पर चुनाव हो रहा है।

Leave a Reply