मध्य प्रदेश चुनाव: बगावती सुरों से परेशान बीजेपी-कांग्रेस, बनाया मास्टर प्लान!

मध्य प्रदेश चुनाव: बगावती सुरों से परेशान बीजेपी-कांग्रेस, बनाया मास्टर प्लान!

- in भोपाल/ म.प्र
0

भोपाल

मध्य प्रदेश में अब विधानसभा चुनाव कुछ ही दिन बचे हैं. इसी बीच बीजेपी और कांग्रेस दोनों पार्टियां बगावती सुरों से परेशान हैं. नामांकन वापसी की आखिरी तारीख 14 नवंबर है, इससे पहले दोनों पार्टियां अपनों की वापसी की पूरी कोशिशों में लगी हैं. बीजेपी के साथ-साथ कांग्रेस ने इसके लिए मास्टर प्लान बनाया है. (इसे पढ़ें- कांग्रेस का वादाः सत्ता में आए तो बैन कर देंगे RSS की शाखाएं, मचा सियासी बवाल)

दरअसल, कांग्रेस ने दिग्विजय सिंह को नाराज प्रत्याशियों को मनाने की ज़िम्मेदारी सौंप दी है. वहीं बीजेपी ने भी प्लान बी पर काम करना शुरू कर दिया है. कुल करीब 100 सीटों को बागी प्रभावित कर सकते हैं. लिहाज़ा पार्टियों ने इस पर काम करना शुरू कर दिया है.

1- बीजेपी के दिग्गज नेता और पूर्व मंत्री रामकृष्ण कुसमरिया ने दमोह और पथरिया से निर्दलीय नामांकन दाखिल किया.
2- भोपाल के हुजूर से बीजेपी के पूर्व विधायक जीतेंद्र डागा और कांग्रेस नेता विष्णु विश्वकर्मा
3- बैरसिया से बीजेपी नेता और पूर्व विधायक ब्राहानंद रत्नाकर
4- मध्य सीट से कांग्रेस के बागी नासिर इस्लाम
5- जबलपुर उत्तर मध्य सीट से बीजेपी नेता धीरज पटेरिया और कांग्रेस से महेश पटेल
6- विदिशा के बीजेपी नेता और पूर्व वित्त मंत्री राघवजी ने शमशाबाद से निर्दलीय फार्म भरा
7- ग्वालियर दक्षिण विधानसभा से बीजेपी नेता समीक्षा गुप्ता ने निर्दलीय नामांकन भरा
8- राजनगर से कांग्रेस नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी के बेटे नितिन चतुर्वेदी ने सपा से
9- भिंड से बीजेपी विधायक नरेंद्र सिंह कुशवाह ने सपा से नामांकन भरा

बीजेपी और कांग्रेस दोनों पार्टियां इस परेशानी से गुज़र रही हैं. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह का कहना है कि पार्टी से बागी हुए सभी नेता अपने हैं, उन्हें वापस लाया जाएगा. वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को रूठों को मनाने की ज़िम्मेदारी दी गई है. दिग्विजय का कहना है कि गुस्सा निकलना जरुरी है, चाहे जैसे निकले, सभी वापस आएंगे.

Leave a Reply