MI vs KXIP: पोलार्ड ने अकेले अपने दम पर पंजाब से छीनी जीत

MI vs KXIP: पोलार्ड ने अकेले अपने दम पर पंजाब से छीनी जीत

- in खेल
0

मुंबई

कायरन पोलार्ड की उम्दा कप्तानी पारी की बदौलत मुंबई इंडियंस ने किंग्स XI पंजाब को रोमांचक मैच में 3 विकेट से हरा दिया। इस मैच में पंजाब ने मुंबई के सामने 198 रनों का विशाल लक्ष्य रखा था। मुंबई की टीम में इस मैच में कप्तानी कर रहे कायरन पोलार्ड को छोड़कर दूसरा कोई भी बल्लेबाज अपनी छाप नहीं छोड़ पाया। लेकिन पोलार्ड ने अकेले अपने दम पर मुंबई को यह मैच जिता दिया। उन्होंने सिर्फ 31 बॉल खेलकर 83 रन बनाए, जिसमें 10 छक्के और 3 चौके शामिल थे। पोलार्ड को इस उम्दा पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया।

इस मैच में नियमित कप्तान रोहित शर्मा मांसपेशियों में खिंचाव के चलते टीम से बाहर थे। इस दौरान पोलार्ड को न सिर्फ टीम की कमान संभालनी थी बल्कि टीम के मिडल ऑर्डर को मजबूती भी देनी थी। मुंबई के लिए क्विंटन डिकॉक (24), सूर्यकुमार यादव (21) और हार्दिक पंड्या को अच्छा स्टार्ट तो मिला लेकिन इनमें से कोई भी टीम के लिए अपनी पारी को बड़े स्कोर में तब्दील नहीं कर पाया। अंत में पोलार्ड ने किंग्स के बोलरों से अकेले लोहा लिया।

एक छोर से मुंबई की टीम नियमित अंतराल पर अपने विकेट गंवाती जा रही थी और दूसरे छोर से पोलार्ड मैच को मुंबई की जद में लाने का प्रयास कर रहे थे। मुंबई के पारी के 16वें ओवर में जब क्रुणाल पंड्या (1) छठे विकेट के रूप में आउट हुए, तो मुंबई की टीम लक्ष्य से 58 रन दूर थी और उसके पास सिर्फ 4 विकेट और 26 गेंदें शेष थीं। पोलार्ड ने यहां तेज गेंदबाज अलजारी जोसफ के साथ 54 रन की साझेदारी बनाकर मुंबई को मैच में करीब ला दिया।

मुंबई को अंतिम 2 ओवरों में 32 रन की दरकार थी और सामने थे मुंबई की आखिरी उम्मीद कायरन पोलार्ड। सैम करन के इस ओवर में पोलार्ड ने 2 छक्के और 1 चौके की मदद से 17 रन जुटाए और अब अंतिम ओवर में मुंबई जीत से 15 रन दूर थी। एक बार फिर स्ट्राइक पर पोलार्ड ही थे। किंग्स के कप्तान अश्विन ने यहां अंकित राजपूत को यह 15 रन बचाने की जिम्मदारी सौंपी।

लेकिन अंकित ने पहली ही गेंद फुलटॉस दी और यह नो बॉल भी था। पोलार्ड ने आसानी से गेंद को मिड विकेट क्षेत्र से सीमा रेखा के बाहर भेज दिया। पोलार्ड को यहां बतौर गिफ्ट फ्री हिट भी मिला। अंकित ने एक बार फिर फ्री हिट पर फुलटॉस फेंका और पोलार्ड ने आसानी से फाइन लेग पर चौका बटोरकर मैच को पूरी तरह मुंबई के जद में ला दिया।

अब मुंबई की टीम यहां जीत से सिर्फ 4 रन ही दूर थी और उसके पास 5 बॉल बची थी। हालांकि अगली ही गेंद पर पोलार्ड ने एक बार फिर शॉर्ट बॉल को पुल कर सीमारेखा के बाहर भेजना चाहा। लेकिन सीमा रेखा पर तैनात डेविड मिलर ने कैच पकड़कर मैच में एक बार फिर रोमांच ला दिया। हालांकि अलजारी (15*) जोसफ और राहुल चाहर (1*) ने पोलार्ड की मेहनत पर पानी नहीं फिरने दिया और अंतिम बॉल तक दोनों ने बाकी के बचे हुए 4 रन पूरे कर लिए और मुंबई की टीम को यहां रोमांचक जीत दिला दी।

Leave a Reply