चांद मुबारक, आज से इबादत का माह-ए-रमज़ान शुरू

चांद मुबारक, आज से इबादत का माह-ए-रमज़ान शुरू

- in राष्ट्रीय
0

नई दिल्ली

रमज़ान-उल-मुबारक का पाक महीना 7 मई से शुरू हो रहा है. मुबारक रमजान के लिए चांद 5 मई को नहीं दिखा था, जिसके बाद मकरजी चांद कमेटी, लखनऊ ने 7 मई से रमजान शुरू होने का ऐलान कर दिया, जबकि तरावीह की नमाज 6 मई से शुरू हो गई. इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार नौवें महीने में मुसलमान 29-30 दिनों तक रोजा रखते हैं. इसके बाद मुस्लिम कैलेंडर के मुताबिक, शव्वाल की पहली तारीख को ईद-उल-फितर यानी ईद का त्योहार मनाया जाता है. ईद का त्योहार भी चांद देखकर ही मनाया जाता है. रमजान का पाक महीना शुरू होने के बाद ही रोजा शुरू हो जाता है.

गौरतलब है कि रोज़ा रखना इस्लाम के पांच स्तंभ में से एक है. सभी सेहतमंद इंसान के लिए रमजान में रोजे रखना फर्ज माना जाता है. यानी देशभर के मुसलमान मंगलवार को अपना पहला रोज़ा रखेंगे. दिल्ली की शाही फतेहपुरी मस्जिद के इमाम मुफ्ती मुकर्रम अहमद ने बताया कि रविवार की शाम चांद कमेटी की बैठक हुई थी, जिसमें चांद दिखने की खबर कहीं से नहीं मिली थी. उन्होंने बताया कि 6 मई को इस्लामी महीने शाबान का 30वां दिन होगा और पहला रमज़ान 7 मई को होगा.

रोजा रखने के लिए मुस्लिम लोग सुबह सूर्योदय से पहले सेहरी करते हैं फिर पूरे दिन भूखे-प्यासे रहने के बाद शाम को इफ्तार करते हैं. इस दौरान रोजेदार कुरान-शरीफ की तिलावत, तरावीह की नमाज और दिन भर में पांच वक्त की नमाज पर अमल करते हैं. माना जाता है कि रमजान का पाक महीना नेकियों का महीना है.

कहा जाता है कि रमजान के पाक महीने में सभी मुसलमानों को अल्लाह की इबादत करनी चाहिए, क्योंकि यह महीना सब्र का होता है. इसके अलावा ये भी माना जाता है कि रमजान के महीने में रोजा रख और अल्लाह की इबादत कर इंसान अपने आप को अल्लाह के करीब पाता है. इस पाक महीने में ऐसा करने पर इंसान अल्लाह से अपने किए गुनाहों के लिए तौबा मांग सकता है. वहीं, इस बार भी रमजान गर्मी के दिनों में है. ऐसे में दिन में गर्मी अधिक होने के साथ रोजे में दिन भी लंबे होंगे.

Leave a Reply