‘हितों के टकराव’ को लेकर फिर चर्चा में राहुल द्रविड़

‘हितों के टकराव’ को लेकर फिर चर्चा में राहुल द्रविड़

- in खेल
0

नई दिल्ली/धर्मशाला

राहुल द्रविड़ एक बार फिर हितों के टकराव के मुद्दे को लेकर चर्चा में हैं। ताजा मामला बेंगलुरु में बने नए पादुकोण-द्रविड़ सेंटर फॉर स्पोर्ट्स एक्सीलेंस से जुड़ा है। खबर है कि द्रविड़ ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को चिट्ठी लिखकर इस पर अपनी राय स्पष्ट की है। द्रविड़ ने कहा है कि इस सेंटर में उनका कोई मालिकाना हित नहीं जुड़े हैं।

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने हमारे सहयोग अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया, ‘द्रविड़ ने खुद ही इस बात को स्पष्ट किया है कि सेंटर में उनका नाम इस्तेमाल होगा लेकिन इस कंपनी और इसके द्वारा चलायी जा रही अकादमी में उनका कोई मालिकाना हक नहीं होगा।’

यह मामला सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त किए गए प्रशासकों की समिति के समक्ष लाया गया था। यह जानने के लिए कि यह हितों के टकराव का मामला है या नहीं, द्रविड़ को थोड़ा और इंतजार करना होगा चूंकि बोर्ड द्वारा लोकपाल की नियुक्ति की जानी अभी बाकी है। द्रविड़ फिलहाल सवालों में घिरे इस सेंटर के सलाहकार बोर्ड के को-चेयरमैन हैं।

अधिकारी ने कहा, ‘द्रविड़ को इस मामले में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए लेकिन किसी नतीजे पर पहुंचने से पहले कानूनी स्पष्टीकरण लेना बेहतर होता है। एक बार जब लोकपाल की नियुक्ति हो जाएगी, द्रविड़ को सूचना दे दी जाएगी।’

उपरोक्त अकादमी में छह खेलों- बैडमिंटन, क्रिकेट, टेनिस, स्क्वैश, फुटबॉल और स्विमिंग- की ट्रेनिंग दी जाएगी। इसके अलावा सेंटर ऑफ स्पोर्ट्स साइंसेज भी होगा जो ओलिंपिक गोल्ड मेडल विजेता अभिनव बिंद्री की पहल है।

द्रविड़ ने बोर्ड को अंडर-19 विश्व कप के लिए न्यू जीलैंड रवाना होने से पहले इस बारे में लिखा था। पूर्व भारतीय कप्तान जुलाई 2015 से अंडर-19 और इंडिया-ए टीम के कोच हैं। द्रविड़ ने पिछले साल हितों के टकराव के मामले को लेकर ही आईपीएल में कोच के पद से इस्तीफा दे दिया था।

Leave a Reply