इस्तीफा आते ही बदला राहुल का ट्विटर प्रोफाइल, अध्यक्ष से बने सदस्य

इस्तीफा आते ही बदला राहुल का ट्विटर प्रोफाइल, अध्यक्ष से बने सदस्य

- in राजनीति
0

नई दिल्ली,

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मान-मनौव्वल आखिरकार बेकार गई्. युवाओं से लेकर वरिष्ठों तक के प्रयास विफल रहे और बुधवार को राहुल को मना लिए जाने की कांग्रेस की बची-खुची उम्मीदों ने भी दम तोड़ दिया. राहुल गांधी ने अपनी ट्विटर प्रोफाइल पर जानकारी बदल दी. राहुल गांधी अब ट्विटर पर कांग्रेस अध्यक्ष नहीं रहे. राहुल ने अपने ट्विटरप्रोफाइल को अपडेट कर मेंबर ऑफ इंडियन नेशनल कांग्रेस और मेंबर ऑफ पार्लियामेंट कर दिया है. राहुल के ट्विटर अकाउंट में इस बदलाव के साथ ही लोकसभा चुनाव के परिणामों की घोषणा के बाद उनके इस्तीफे पर शुरू हुए मनाने के दौर का भी समापन हो गया है.

गौरतलब है कि राहुल गांधी ने अपनी प्रोफाइल में बदलाव करने के पहले अपना 4 पन्नों का इस्तीफा पत्र सार्वजनिक करते हुए समर्थन के लिए कार्यकर्ताओं और समर्थकों के प्रति आभार प्रकट किया था. राहुल ने कहा कि 2019 के चुनाव में हार की जिम्मेदारी पार्टी का अध्यक्ष होने के नाते मेरी थी. इसलिए जिम्मेदारी लेते हुए मैंने पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया.उन्होंने कहा कि हार की जिम्मेदारी और जवाबदेही लेनी होगी और अगर मैं खुद को इस जिम्मेदारी से दूर रखूं तो यह सही नहीं होगा. साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि वह अगले अध्यक्ष का नाम आगे नहीं करेंगे.

बता दें कि राहुल गांधी इस्तीफा देने की जिद पर अड़े थे, वहीं पार्टी में उनके मान-मनौव्वल का दौर चला. युवा नेताओं के साथ ही वरिष्ठ नेताओं ने भी राहुल को मनाने का प्रयास किया. हाल ही में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ समेत कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने राहुल गांधी से मुलाकात की थी. खबरों के अनुसार दोनों नेताओं ने राहुल गांधी के सामने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने की पेशकश भी की थी, लेकिन राहुल नहीं माने.

Leave a Reply