‘शराबी’ कैप्टन को रीजनल डायरेक्टर न‍ियुक्त करने का आदेश वापस लिया

‘शराबी’ कैप्टन को रीजनल डायरेक्टर न‍ियुक्त करने का आदेश वापस लिया

- in राष्ट्रीय
0

नई दिल्ली,

एयर इंडिया ने कैप्टन अरविंद कठपालिया को रीजनल डायरेक्टर नियुक्त करने का आदेश वापस ले ल‍िया है. कठपालिया को रीजनल डायरेक्टर नियुक्त करने का आदेश जारी के कुछ घंटों के भीतर ही यह आदेश वापस लेना पड़ा है. गौरतलब है क‍ि एयर इंडिया के सीनियर पायलट अरविंद कठपालिया बीते 11 नवंबर को अल्कोहल टेस्ट में फेल हो गए थे जब वह फ्लाइट की कमान संभालने वाले थे. उस वक्त कठपालिया को डायरेक्टर (ऑपरेशंस) के पद से हटा दिया गया था.

मंगलवार को एयर इंडिया ने अपने बयान में कहा कि नॉर्दर्न रीजन के रीजनल डायरेक्ट पंकज कुमार के सेवानिवृत्त होने के बाद कैप्टन कठपालिया उनकी जगह लेंगे. पंकज कुमार 30 अप्रैल को सेवानिवृत्त हो गए. कैप्टन कठपालिया एक अप्रैल से कार्यभार ग्रहण करने वाले थे, लेकिन उससे पहले ही उन्हें पद से हटा दिया गया.

पायलट यूनियन इंडियन कमर्शियल पायलट्स असोसिएशन (ICPA) ने कहा कि एक भ्रष्ट अधिकारी को प्रमोशन देने के लिए सीनियर अफसरों की अनदेखी की जा रही है. उन्हें नॉर्दर्न रीजन का कार्यभार दिया जा रहा है. यूनियन ने कहा कि कठपालिया पद पर बैठने के बाद उन लोगों को धमकाएंगे, जिन्होंने उनके खिलाफ शिकायत की थी. बता दें कि 11 नवंबर 2018 को उड़ान ड्यूटी से पहले कैप्टन कठपालिया शराब पिए पाए गए थे. वह ब्रीथ एनालाइजर (Breath Analyser Test) यानी शराब पीने की जांच में फेल हो गए थे. यह दूसरी बार था, जब वो उड़ान से पहले शराब पिए हुए पकड़े गए. इसके बाद उनको तीन साल के लिए निलंबित कर दिया गया था.

नियम के मुताबिक, पहली बार पकड़े जाने पर डायरेक्टर ऑपरेशन्स का लाइसेंस तीन महीने के लिए निलंबित किया जा सकता है, जबकि दूसरी बार पकड़े जाने पर निलंबन तीन साल के लिए करने का प्रावधान है. इसके अलावा तीसरी बार पकड़े जाने पर लाइसेंस हमेशा के लिए रद्द हो सकता है.

Leave a Reply