इंदिरा आवास योजना का नाम बदलेगी मोदी सरकार

इंदिरा आवास योजना का नाम बदलेगी मोदी सरकार

- in राजनीति
0

नई दिल्ली 

images-1नरेंद्र मोदी सरकार एक और वेलफेयर स्कीम के नाम को गांधी फैमिली से अलग कर रही है। इस बार इंदिरा आवास योजना की बारी है। इस योजना के तहत गरीबों के लिए घर बनाए जाते हैं। अब इसका नाम बदलकर प्रधानमंत्री आवास योजना किया जाएगा। यह योजना सरकार के महत्वाकांक्षी प्रॉजेक्ट- सभी के लिए घर के लिहाज से काफी अहम है।

एक सीनियर सरकारी अधिकारी ने बताया, ‘नाम में बदलाव किया जा रहा है और इस स्कीम में कई अन्य परिवर्तन भी किए जा रहे हैं। इस स्कीम के नाम में ग्रामीण शब्द को शामिल किया जाए या नहीं, इस पर अब भी चर्चा चल रही है।’  ग्रामीण विकास मंत्रालय ने इस स्कीम में संशोधन से जुड़ा नोट पहले ही पेश कर दिया है। इसमें इस योजना के तहत बनने वाले घरों को बड़ा और महंगा भी बनाने का प्रस्ताव है।

हर घर की लागत तकरीबन दोगुनी होकर 1.25 लाख हो जाएगी, जबकि इसके लिए मौजूदा आवंटन 75,000 रुपये प्रति महीना का है।  नई डिजाइन में घर का किचन अपेक्षाकृत बड़ा होगा और घर का कुल रकबा 22 स्क्वेयर मीटर से बढ़ाकर 25 स्क्वेयर मीटर कर दिया जाएगा। सरकार इस योजना को ग्रामीण विकास से जुड़ी अन्य योजनाओं के साथ भी जोड़ने के प्रस्ताव पर काम कर रही है।

मोदी सरकार पहले ही राजीव गांधी के नाम से जुड़ी दो योजनाओं के नाम बदल चुकी है। इनमें से एक योजना का नाम सरदार पटेल के नाम पर रखा गया है, जबकि दूसरी योजना में भारतीय जनसंघ के नेता दीनदयाल उपाध्याय का नाम शामिल किया गया है।

Leave a Reply