संयुक्त राष्ट्र ने कश्मीर मामले में इमरान खान के दावे को नजरअंदाज किया

संयुक्त राष्ट्र ने कश्मीर मामले में इमरान खान के दावे को नजरअंदाज किया

संयुक्त राष्ट्र नेतृत्व ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के उस दावे को नजरअंदाज कर दिया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि भारत कश्मीर की स्थिति में बदलाव करने जा रहा है। संवाददाता सम्मेलन के दौरान मंगलवार को जब एक पाकिस्तानी पत्रकार ने इमरान खान के बयान पर प्रतिक्रिया मांगी तो महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने कहा, “मैंने उन टिप्पणियों को नहीं देखा है और हम उन चीजों पर टिप्पणी नहीं करते जो नहीं हुई है।”

महासभा की अध्यक्ष मारिया फर्नांडा एस्पिनोसा की प्रवक्ता मोनिका ग्रेली ने कहा, “आपके विशेष प्रश्न पर आज, मेरे पास कोई टिप्पणी नहीं है।”

उन्होंने कहा, “लेकिन हम इस बात को याद करना चाहेंगे कि एस्पिनोसा ने दोनों देशों का दौरा किया था और कुछ हफ्ते पहले, जब हम उस क्षेत्र में तनाव में थे, तो उन्होंने शांतिपूर्ण और रचनात्मक संवाद के लिए कहा था।” एस्पिनोसा ने महासभा के अध्यक्ष के रूप में पदभार संभालने से पहले अगस्त में भारत का दौरा किया था, और पद संभालने के बाद जनवरी में पाकिस्तान का दौरा किया था।

खान ने इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के क्बजे वाले वेस्ट बैंक की बस्तियों को इजरायल में मिलाने के संकल्प को भारतीय जनता पार्टी के घोषणा पत्र के उस विचार से जोड़ा, जिसमें भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 के तहत कश्मीर को मिला विशेष दर्जा समाप्त करने की बात कही गई है।

Leave a Reply