यूपी: तीन तलाक बिल पास होने की खुशी मनाई तो पति ने दे दिया तलाक

यूपी: तीन तलाक बिल पास होने की खुशी मनाई तो पति ने दे दिया तलाक

नई दिल्ली,

तीन तलाक बिल पास होने पर खुशी का इजहार करना महिला को महंगा पड़ गया. तीन तलाक की खुशी का इजहार पर पति ने उसे मारपीट कर तीन तलाक देकर घर से निकाल दिया. ये मामला उत्तर प्रदेश में फतेहपुर जिले के बिंदकी कोतवाली क्षेत्र के जिगनी गांव का है. जहां एक मुस्लिम महिला को उसके शौहर ने इसलिए ‘तलाक’ दे दिया, क्योंकि वह राज्यसभा में तीन तलाक बिल पास होने की खुशी मना रही थी. पुलिस ने इस संबंध में एक मुकदमा दर्ज किया है.

बिंदकी क्षेत्र के पुलिस उपाधीक्षक (सीओ) अभिषेक तिवारी ने रविवार को बताया, ‘जिगनी गांव की महिला मुफीदा खातून ने शनिवार को अपने शौहर शमशुद्दीन के खिलाफ एक मुकदमा दर्ज कराया है.’

इस मुकदमे में महिला ने आरोप लगाया है कि वह एक अगस्त को तीन तलाक से संबंधित बिल राज्यसभा में पास होने पर खुशी मना रही थी, जो उसके शौहर को नागवार गुजरा और उसने पहले मारपीट कर उसे घर से निकाल दिया, फिर बाद में उसके मायके पहुंच कर मां-बाप के सामने तीन बार तलाक बोल कर उसे तलाक दे दिया है.’

पुलिस उपाधीक्षक ने आगे कहा, ‘महिला की शिकायत पर शमशुद्दीन के खिलाफ मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) अधिनियम 2019 के साथ ही अन्य गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर उसकी तलाश की जा रही है.’

बता दें कि बिंदकी कोतवाली क्षेत्र के गांव जिगनी निवासी नयामुद्दीन ने अपनी पुत्री मुफीदा खातून की शादी 2011 में गांव के ही शमशुद्दीन के साथ की थी. पति से उसे हमेशा तलाक देने की धमकी मिलती रहती थी. केंद्र सरकार ने तीन तलाक मामले को गंभीरता से लेते हुए उसे सदन में पास कराकर तीन तलाक कानून बना दिया.बताया जा रहा है कि महिला को जब तीन तलाक बिल पास होने की जानकारी हुई तो उसने अपने पति से कहने लगी कि अब आप हमें तीन तलाक नहीं दे सकते क्योंकि सरकार ने तीन तलाक बिल को पास कर दिया है.

जिसके बाद महिला की बात सुनकर पति आग बबूला हो गया और महिला के साथ मारपीट करने लगा इसके बाद महिला को तीन तलाक देकर घर से निकाल दिया. महिला अपने मायके पहुंचकर पति की गई ज्यादती की जानकारी दी. जब पति का इतने में जी नहीं भरा तो वो खुद ससुराल पहुंच गया और पत्नी को फिर मारने पीटने लगा.

मायके पक्ष वालों ने जब मारपीट का विरोध किया तो पति ने फिर से महिला को तीन तलाक देकर अपने घर वापस आ गया. पीड़ित महिला ने एसडीएम बिंदकी व सीओ बिंदकी को तीन तलाक देने की शिकायती प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है. वहीं पुलिस ने इस मामले में तीन तलाक का मुकदमा दर्ज कर आरोपी पति को गिरफ्तार भी कर लिया है और जेल भेजने की कार्यवाही कर रही है.

Leave a Reply