वर्ल्ड कप: धोनी ने मैदान पर उतरते ही हासिल की उपलब्धि

वर्ल्ड कप: धोनी ने मैदान पर उतरते ही हासिल की उपलब्धि

- in खेल
0

नई दिल्ली

पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मैच में मैदान पर उतरते ही एक और उपलब्धि हासिल की। वह 350 वनडे इंटरनैशनल मैच खेलने वाले ओवरऑल 10वें क्रिकेटर बन गए। वह ऐसा करने वाले दूसरे भारतीय क्रिकेटर हैं। भारत और न्यू जीलैंड के बीच वर्ल्ड कप-2019 का पहला सेमीफाइनल मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड में खेला जा रहा है।

इस मैच में न्यू जीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी। टीम इंडिया को अपनी कप्तानी में 2007 टी20 वर्ल्ड कप और 2011 वनडे वर्ल्ड कप दिला चुके धोनी इस मैच में विकेटकीपिंग करने उतरे और उन्होंने यह उपलब्धि हासिल कर ली।

धोनी से पहले दिग्गज सचिन तेंडुलकर ने यह उपलब्धि हासिल की। ‘गॉड ऑफ क्रिकेट’ सचिन के नाम 463 वनडे मैचों में रेकॉर्ड 18426 रन दर्ज हैं। भारतीयों में धोनी के बाद दिग्गज राहुल द्रविड़ का नंबर आता है, जिन्होंने 344 वनडे इंटरनैशनल मैच खेले हैं और कुल 10889 रन बनाए हैं।

साल 2004 में वनडे इंटरनैशनल क्रिकेट में डेब्यू करने वाले धोनी ने इस फॉर्मेट में 10 हजार से ज्यादा रन बनाए हैं। सचिन के अलावा महेला जयवर्दने, सनथ जयसूर्या, कुमार संगकारा, शाहिद अफरीदी, इंजमाम उल हक, रिकी पॉन्टिंग, वसीम अकरम और मुथैया मुरलीधरन भी 350 या इससे ज्यादा वनडे इंटरनैशनल मैच खेल चुके हैं।

Leave a Reply