कटक: विंडीज पर रोमांचक जीत, भारत ने 2-1 से जीती सीरीज

कटक: विंडीज पर रोमांचक जीत, भारत ने 2-1 से जीती सीरीज

- in Featured, खेल
0

कटक,

कप्तान विराट कोहली की अगुआई में बल्लेबाजों के उम्दा प्रदर्शन से भारत ने विषम परिस्थितियों से उबरते हुए तीसरे और अंतिम एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में वेस्ट इंडीज को चार विकेट से हराकर सीरीज 2-1 से जीत ली।

विंडीज के खिलाफ लगातार 10वीं वनडे सीरीज जीत
वेस्ट इंडीज के खिलाफ भारत ने लगातार 10वीं द्विपक्षीय एकदिवसीय सीरीज जीती। वेस्ट इंडीज के 316 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत ने कोहली (85) के अलावा सलामी बल्लेबाजों लोकेश राहुल (77) और रोहित शर्मा (33) के अर्धशतकों से 48.4 ओवर में छह विकेट पर 316 रन बनाकर जीत दर्ज की।

कोहली जडेजा की उपयोगी साझेदारी
कोहली ने रविंद्र जडेजा (नाबाद 39) के साथ छठे विकेट के लिए 58 रन जोड़े जबकि राहुल और रोहित ने पहले विकेट के लिए 122 रन की साझेदारी की। शारदुल ठाकुर ने छह गेंद में नाबाद 17 रन की महत्वपूर्ण पारी खेली।

पूरन-पोलार्ड का दम
वेस्ट इंडीज ने निकोलस पूरन (89) और कप्तान कायरोन पोलार्ड (नाबाद 74) के तूफानी अर्धशतक और दोनों के बीच पांचवें विकेट की 16.2 ओवर में 135 रन की साझेदारी से पांच विकेट पर 315 रन बनाए। पूरन ने 64 गेंद की अपनी पारी में 10 चौके और तीन छक्के मारे जबकि पोलार्ड ने 51 गेंद का सामना करते हुए सात छक्के और तीन चौके जड़े। शै होप (42) और रोस्टन चेज (38) ने भी उपयोगी पारियां खेलीं।

राहुल-रोहित की साझेदारी
लक्ष्य का पीछा करने उतरे भारत को राहुल और रोहित की सलामी जोड़ी ने एक बार फिर शानदार शुरुआत दिलाई। रोहित ने शेल्डन कोटरेल का पहला ओवर मेडन खेला लेकिन इस तेज गेंदबाज के अगले ओवर में दो चौके मारे। राहुल ने जेसन होल्डर पर चौके से खाता खोला जबकि रोहित ने भी इस तेज गेंदबाज के ओवर में चौका और छक्का जड़ा। राहुल ने कीमो पाल पर चौके के साथ नौवें ओवर में टीम के रनों का अर्धशतक पूरा किया और फिर 16वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया।

हाफ सेंचुरी बनाकर लौटे रोहित
राहुल ने तेज गेंदबाज अल्जारी जोसेफ की गेंद पर एक रन के साथ 49 गेंद में अर्धशतक पूरा किया जबकि रोहित ने भी इस तेज गेंदबाज पर एक रन के साथ 52 गेंद में 43वां अर्धशतक पूरा किया। पोलार्ड ने जोड़ी को तोड़ने के लिए गेंद होल्डर को थमाई और उन्होंने अपने कप्तान को निराश नहीं करते हुए रोहित को विकेटकीपर होप के हाथों कैच करा दिया। रोहित ने 63 गेंद का सामना करते हुए आठ चौके और एक छक्का जड़ा।

अय्यर हुए फ्लॉप
राहुल और कप्तान कोहली ने इसके बाद टीम का स्कोर 150 रन के पार पहुंचाया। राहुल ने इस बीच जोसेफ पर छक्का जड़ा लेकिन इसी तेज गेंदबाज की गेंद पर विकेटकीपर को कैच दे बैठे। उन्होंने 89 गेंद की अपनी पारी में आठ चौके और एक छक्का मारा। पिछली चार पारियों में अर्धशतक जड़ने वाले श्रेयस अय्यर भी सात रन बनाने के बाद कीमो पॉल (59 रन पर तीन विकेट) की गेंद पर जोसेफ को कैच दे बैठे जबकि ऋषभ पंत (07) इस तेज गेंदबाज की गेंद को विकेटों पर खेल गए जिससे भारत का स्कोर एक विकेट पर 167 रन से चार विकेट पर 201 रन हो गया।

कोहली ने संभाले रखा छोर
कोहली ने हालांकि एक छोर संभाले रखा और कीमो पाल की गेंद पर एक रन के साथ 51 गेंद में 55वां अर्धशतक पूरा किया। कोटरेल ने केदार जाधव (09) को बोल्ड करके भारत की परेशानी बढ़ाई। भारत को अंतिम 10 ओवर में जीत के लिए 79 रन की दरकार थी। कोहली और जडेजा ने साझेदारी की शुरुआत स्ट्राइक रोटेट करने को तरजीह दी। कोहली ने इस बीच खैरी पियरे पर दो चौके मारे जबकि जडेजा ने होल्डर पर चौका जड़ा।

नो-बॉल और भारत ने जीती सीरीज
भारत को अंतिम पांच ओवर में 38 रन की जरूरत थी। कोहली इसके बाद कीमो पाल की गेंद को विकेटों पर खेल गए। उन्होंने 81 गेंद का सामना करते हुए नौ चौके मारे। शारदुल ने कीमो पाल पर चौके और फिर कोटरेल की लगातार गेंद पर छक्के और चौके के साथ भारत का पलड़ा भारी किया। जडेजा ने कीमो पॉल पर चौका मारा और फिर नो बॉल के साथ भारत ने मैच और सीरीज जीत ली।

पोलार्ड और पूरन ने संभाला मोर्चा
इससे पहले पोलार्ड और पूरन की साझेदारी की बदौलत वेस्ट इंडीज की टीम अंतिम 10 ओवर में 118 रन जोड़ने में सफल रही। सीरीज में पहली बार भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टास जीता और पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। होप और एविन लुईस (21) ने पहले विकेट के लिए 15 ओवर में 57 रन जोड़कर टीम को धीमी लेकिन अच्छी शुरुआत दिलाई। होप ने चौथे ओवर में मोहम्मद शमी (66 रन पर एक विकेट) पर पारी का पहला चौका मारा और फिर इस ओवर में एक और चौका जड़ा।

लुईस को किस्मत का साथ
लुईस ने पदार्पण कर रहे नवदीप सैनी (58 रन पर दो विकेट) पर दो चौके मारे। सैनी के तीसरे ओवर में हालांकि लुईस भाग्यशाली रहे जब रविंद्र जडेजा पॉइंट पर उनका मुश्किल कैच लपकने में नाकाम रहे। होप और लुईस ने 13वें ओवर में टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचाया। लुईस हालांकि जडेजा (54 रन पर एक विकेट) के पहले ओवर की अंतिम गेंद पर बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में लॉन्ग ऑन पर सैनी को कैच दे बैठे।

फिर छूटे कैच
कुलदीप यादव के अगले ओवर में विकेटकीपर पंत ने चेज (38) का कैच टपका दिया जबकि उन्होंने खाता भी नहीं खोला था। होप शमी की सीधी गेंद को चूककर बोल्ड हो गए। उन्होंने 50 गेंद का सामना करते हुए पांच चौके मारे। पंत ने जडेजा की गेंद पर शिमरोन हेटमायर (37) का भी कैच छोड़ा।

पोलार्ड की कप्तानी पारी
हेटमायर ने कुलदीप और शारदुल (66 रन पर एक विकेट) पर छक्के मारे लेकिन सैनी ने उन्हें पविलियन भेज दिया। सैनी ने अपने अगले ओवर में चेज को भी बोल्ड किया। पूरन और पोलार्ड ने इसके बाद पारी को आगे बढ़ाया। पोलार्ड ने जडेजा पर दो छक्के मारे। पूरन ने कुलदीप पर चौके के साथ 41वें ओवर में टीम का स्कोर 200 रन के पार पहुंचाया। उन्होंने कुलदीप पर छक्के के साथ 43 गेंद में लगातार दूसरा अर्धशतक पूरा किया। शमी के अगले ओवर में पंत ने पूरन का भी कैच टपकाया।

पूरन का धमाका
पूरन ने सैनी पर तीन चौके मारे और शारदुल पर दो चौके और एक छक्का जड़ा। वह शारदुल के इसी ओवर में जडेजा को कैच दे बैठे। पोलार्ड ने 49वें ओवर में सैनी पर दो चौके और एक छक्का मारा और इस दौरान अर्धशतक भी पूरा किया। उन्होंने शमी के अंतिम ओवर में भी लगातार दो छक्के मारे।

Leave a Reply