गुजरात: जो जिंदा नहीं, जमातियों की लिस्‍ट में उसका भी नाम

गुजरात: जो जिंदा नहीं, जमातियों की लिस्‍ट में उसका भी नाम

अहमदाबाद

दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज में आयोजित तबलीगी जमात के जलसे ने देश में कोरोना वायरस फैलाने में बड़ी भूमिका अदा की है। अब तक 600 से ज्यादा जमातियों में कोरोना का संक्रमण पाया जा चुका है। इसी संक्रमण के खतरे को देखते हुए केंद्र सरकार ने ऐसे मोबाइल नंबरों की लिस्ट जारी की है, जिनके इस जलसे के दौरान निजामुद्दीन में रहने की आशंका है। इनमें 1350 नाम गुजरात के भी हैं।

तबलीगी जमात से फैले कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे को देखते हुए केंद्र सरकार ने ऐसे मोबाइल नंबरों की लिस्ट जारी की है, जिनके इस जलसे के दौरान निजामुद्दीन में रहने की आशंका है। इनमें 1350 नाम गुजरात के भी हैं। हालांकि इनमें से कुछ नाम हैं, जिनमें बड़ी गड़बड़ी सामने आई है।

गुजरात के जिन लोगों के नाम इस लिस्ट में हैं, उनमें से पांच नाम उत्तरी गुजरात के अरावली जिले से हैं। इनमें से तीन नंबर सीआईएसएफ जवानों के हैं। एक नंबर हितेश परमार और उनके पिता कांतिभाई के नाम पर है। पांचवां नंबर जिस शख्स के नाम पर है वह पश्चिम बंगाल से दिल्ली मरकज गया और वहां से अरावली आ गया।

इनमें से हितेश और उनके पिता कांतिभाई के नाम पर जो नंबर है, उसमें बड़ी गड़बड़ी सामने आई है। दरअसल कांतिभाई की 20 वर्ष पहले मौत हो गई है और हितेश ने कभी ट्रेन से सफर नहीं किया। 29 वर्षीय हितेश ने यह भी बताया कि वह इस नंबर को काफी समय पहले इस्तेमाल करना छोड़ चुके हैं।

हितेश अरावली के वत्रक गांव में टेलर का काम करते हैं। उन्होंने कहा, ‘मैं इस नंबर को करीब साल भर पहले छोड़ चुका हूं और इस वक्त दूसरा नंबर इस्तेमाल कर रहा हूं।’ हितेश ने बताया कि बीते कई दिनों से मैं, मेरी पत्नी और मां के लिए ऐसा कोई दिन नहीं बीता है जब हमारे घर पुलिस, स्वास्थ्यकर्मी और गांव के सरपंच आकर पूछताछ करने के लिए न बैठे हों। उन्होंने कहा, ‘मैं आज तक ट्रेन में सफर करना तो दूर, जल्दी गांव से बाहर ही नहीं गया।’

एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया, ‘तीन नंबर सीआईएसएफ कर्मियों के नाम पर हैं, एक हितेश परमार के नाम पर और पांचवां नंबर जिसके नाम पर है वह बंगाल का रहने वाला है और दिल्ली के रास्ते अरावली आया है। हमने इन नंबरों के कॉल डेटा रेकॉर्ड्स भी मंगाए हैं, इसके बाद आगे की जांच करेंगे।’

Leave a Reply