Monday , March 1 2021
Home / राष्ट्रीय / दो साल पहले अपनी शर्तों पर आना चाहता था दाऊद

दो साल पहले अपनी शर्तों पर आना चाहता था दाऊद

नई दिल्ली

dawood4-5-300x217दो साल पहले यूपीए सरकार के कार्यकाल में दाऊद के भारत लौटने के प्रस्ताव पर चर्चा हुई थी। ये खबर अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने छापी है। मुंबई ब्लास्ट के गुनहगार दाऊद के लौटने के प्रस्ताव पर दिल्ली के बड़े वकील ने कांग्रेस के दो बड़े नेताओं से चर्चा भी की थी। उस बातचीत में दाऊद को हॉट पोटेटो बताते हुए कहा गया था कि मोस्टवांटेड की शर्तों पर मुकदमे सुनवाई में रिस्क है।

अखबार के मुताबिक 2013 में दिल्ली के वकील जो कांग्रेस के भी नेता हैं उन्होंने पार्टी नेतृत्व को बताया था कि दाऊद इब्राहिम भारत लौटने को तैयार है। यूपीए सरकार के बड़े अधिकारियों ने भी इस खबर की पुष्टि करते हुए कहा कि दाऊद के लौटने के प्रस्ताव पर पार्टी और सरकार में ऊपर तक बातचीत हुई थी।

1993 मुंबई सीरियल धमाकों के दो दशक बाद पहली बार दाऊद भारत में मुकदमे क सुनवाई को तैयार हुआ था। इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक दाऊद के प्रस्ताव पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और तत्कालीन सुरक्षा सलाहकार शिवशंकर मेनन के बीच भी चर्चा हुई थी।

अखबार के मुताबिक इस मुद्दे पर पूर्व सुरक्षा सलाहकार का पक्ष नहीं लिया जा सका, लेकिन मनमोहन सिंह की ओर से इस बाबत ई-मेल भेजा गया, जिसमें उन्होंने लिखा है कि दाऊद के लौटने के प्रस्ताव पर किसी तरह की चर्चा होने की बात उन्हें याद नहीं है, लेकिन अखबार ने अधिकारियों के हवाले से दावा किया है कि डॉन के प्रस्ताव की जानकारी पहले कांग्रेस नेतृत्व को दी गई और बाद में इसकी चर्चा पीएमओ से भी हुई।

जिस वकील ने दाऊद को लेकर कांग्रेस नेताओं से संपर्क साधा था वो डी कंपनी के कई मामलों को भी देख रहे हैं। बताया गया कि वो डॉन के परिवार के संपर्क में भी था। अखबार के मुताबिक 2013 में दाऊद के प्रस्ताव से ये भी पता चला है कि वो किडनी की गंभीर बीमारी से जूझ रहा है और भारत लौटकर परिवार के साथ रहने को बेताब है।

About Editor

Check Also

आर्मी चीफ नरवणे की चेतावनी, LoC पार करने वाले आतंकी जिंदा नहीं लौट पाएंगे

नई दिल्ली जम्मू-कश्मीर के नगरोटा इलाके में गुरुवार सुबह सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को मार ...

Leave a Reply