Tuesday , March 2 2021
Home / राष्ट्रीय / एम्स में दिल और दांतों का इलाज होगा महंगा!

एम्स में दिल और दांतों का इलाज होगा महंगा!

नई दिल्ली 

aiims-300x225एम्स के कार्डियोथोरासिक ऐंड वैस्कुलर सर्जरी डिपार्टमेंट में इलाज का पैकेज चार्ज महंगा हो सकता है । अस्पताल केडेंटल डिपार्टमेंट में इलाज का पैकेज रिवाइज हो सकता है। इसके अलावा लगभग 96 करोड़ रुपये की लागत से प्राइवेट वॉर्ड के निर्माण को हरी झंडी मिल सकती है।  ऐसे कई अहम फैसले और लगभग 1,000 करोड़ के बजट पर मुहर लगाने के लिए एम्स की फाइनैंस कमिटी की बैठक मंगलवार को तय की गई है।

लेकिन इस कमिटी पर ही सवाल उठाया जा रहा है, क्योंकि एम्स की इंस्टिट्यूट बॉडी (आईबी) का टेन्योर पहले ही खत्म हो चुका है। जब आईबी ही नहीं है, तो कमिटी कैसे तय हो गई और इस कमिटी को इतने बड़े फैसले लेने का हक कैसे मिल गया। एम्स के कई फैकल्टी मेंबर ने बैठक का विरोध करने का फैसला किया है।  एम्स ऐक्ट के अनुसार,एम्स की इंस्टिट्यूट बॉडी के पास कमिटी बनाने की पावर होती है।

लेकिन अभी एम्स में आईबी है ही नहीं। सबसे पहले आईबी का गठन करना होगा और तभी फाइनैंस कमिटी, एकेडेमिक कमिटी, गवर्निंग बॉडी, स्टेट कमिटी, सलेक्शन कमिटी बनाई जा सकती है। यही नहीं, ऐक्ट यह भी कहता है कि कमिटी में 50 पर्सेंट से कम एक्स-ऑफिसियो मेंबर होंगे। लेकिन इस फाइनैंस कमिटी के मेंबर की लिस्ट में जो आठ नाम हैं, उनमें से छह मेंबर एक्स-ऑफिसियो हैं।

यही वजह है कि एम्स के फैकल्टी मेंबर इस कमिटी को अवैध बता रहे हैं।  इस फाइनैंस कमिटी के समक्ष दर्जनों आइटम रखे जाएंगे, जिस पर कुल एक हजार करोड़ से भी ज्यादा खर्च होने हैं। सूत्रों का कहना है कि आखिर इतने बड़े बजट को पास कराने के लिए एम्स प्रशासन जल्दीबाजी क्यूं कर रहा है। सबसे महत्वपूर्ण यह है कि एम्स में इलाज कराना भी महंगा होने वाला है। एम्स के हार्ट डिपार्टमेंट में इलाज कराना 20-30 पर्सेंट तक महंगा हो सकता है। यही नहीं, यहां के डेंटल डिपार्टमेंट का भी पैकेज रिवाइज किया जा रहा है, इसका मतलब यह है कि डेंटल में इलाज कराना भी महंगा हो जाएगा।

About Editor

Check Also

आर्मी चीफ नरवणे की चेतावनी, LoC पार करने वाले आतंकी जिंदा नहीं लौट पाएंगे

नई दिल्ली जम्मू-कश्मीर के नगरोटा इलाके में गुरुवार सुबह सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को मार ...

Leave a Reply