Sunday , June 20 2021
Home / राष्ट्रीय / यूट्यूब से हटाई गई निर्भया पर बनी विवादित डॉक्युमेंट्री ‘इंडियाज़ डॉटर’

यूट्यूब से हटाई गई निर्भया पर बनी विवादित डॉक्युमेंट्री ‘इंडियाज़ डॉटर’

नई दिल्ली 

indias-daughter1निर्भया गैंगरेप पर बनी डॉक्युमेंट्री पर भारत सरकार का बैन पूरी तरह फ्लॉप हो गया। पहले तो बीबीसी ने इंग्लैंड और कुछ अन्य देशों में डॉक्युमेंट्री दिखाई। उसके बाद, यूट्यूब पर भी ‘इंडियाज डॉटर’ नाम की यह डॉक्युमेंट्री पोस्ट कर दी गई है।  भारतीय समय के अनुसार गुरुवार सुबह करीब सात बजे इसे यूट्यूब पर डाला गया। डॉक्युमेंट्री शुरू होते ही यह मेसेज उभरा, जहां इस पर बैन है, शेयर करके पहुंचाइए। इसके बाद सोशल मीडिया साइट्स पर इसे वायरल होने में भी ज्यादा वक्त नहीं लगा।

नई दिल्ली  निर्भया गैंगरेप पर बनी डॉक्युमेंट्री ‘इंडियाज़ डॉटर’ को यूट्यूब से हटा दिया गया है। गुरुवार को बिटेन में बीबीसी द्वारा प्रसारित किए जाने के बाद इस फिल्म को यूट्यूब पर अपलोड कर दिया गया था। गौरतलब है कि भारत में यह फिल्म बैन है और सरकार ने यूट्यूब से इसे हटाने के लिए कहा था।

भारत सरकार के आग्रह के बावजूद बीबीसी ने ब्रिटेन में गुरुवार को इस विवादित डॉक्युमेंट्री का प्रसारण कर दिया था। प्रसारण के कुछ देर बाद यह यूट्यूब पर आ गई। दिल्ली पुलिस ने टेलिकॉम ऐंड कम्यूनिकेशन मिनिस्ट्री से आग्रह किया था कि यूट्यूब को इस डॉक्युमेंट्री को हटाने के लिए कहा जाए।

बीबीसी के मुताबिक यूट्यूब ने प्रवक्ता ने उन्हें बताया है, ‘यूट्यूब जैसी सेवाएं लोगों को अपनी बात कहने और विभिन्न विचारों को साझा करने में मदद करती हैं, लेकिन हम ऐसी सामग्री को हटाते हैं जो गैरकानूनी हो या हमारे हमारी कम्यूनिटी गाइडलाइंस का उल्लंघन करती हो।’  इस पूरे मामले पर बीबीसी का कहना है कि उसने कुछ गलत नहीं किया है। बीबीसी का कहना है, ‘इस डॉक्युमेंट्री को हमने अपने संपादकीय दिशानिर्देशों के अनुरूप पाया और यह इस मुद्दे को पूरी संवेदनशीलता के साथ पेश करती है। इसीलिए इसका प्रसारण ब्रिटेन में किया गया है।’

भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने जबकि बुधवार को ही बीबीसी, विदेश मंत्रालय, सूचना और प्रसारण मंत्रालय और सूचाना प्रौद्योगिकी विभाग से यह सुनिश्चित करने को कहा कि इस डॉक्युमेंट्री को कहीं भी प्रसारित नहीं किया जाए। विडियो साइट पर यह डॉक्युमेंट्री ‘गेम पंडित्स’ नाम के प्रोफाइल से डाली गई है। इसके पहले, बीबीसी के चैनल-4 ने बुधवार रात डॉक्युमेंट्री का प्रसारण इंग्लैंड के साथ कुछ अन्य देशों मे भी किया गया था।

बीबीसी ने अपने एक बयान में यह भी कहा कि दर्शकों के जबरदस्त इंट्रेस्ट को देखते हुए इसका प्रसारण कर दिया गया।  गौरतलब है कि ब्रिटिश फिल्ममेकर लेस्ली उडविन द्वारा निर्मित इस डॉक्युमेंट्री का प्रसारण दरअसल भारत सहित कई देशों में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (8 मार्च) को किया जाना था। हालांकि, मंगलवार को सोशल मीडिया और बुधवार सुबह संसद में बवाल के बाद केंद्र सरकार ने विधिवत कोर्ट ऑर्डर लेकर इसके प्रसारण पर रोक लगा दी।

अधिकारियों ने बताया था कि गृह मंत्रालय इजाजत की शर्तों के कथित उल्लंघन को लेकर ब्रिटिश फिल्मकार लेस्ली उडविन के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने पर भी विचार कर रहा है।  गृह मंत्री ने बुधवार को यह भी कहा कि ऐसे इंटरव्यू और जेल के अंदर शूटिंग की इजाजत देने वाले प्रावधानों की समीक्षा की जाएगी। दिल्ली की एक अदालत ने कहा कि गैंगरेप के दोषी मुकेश सिंह के इंटरव्यू के प्रसारण पर पाबंदी अगले आदेश तक जारी रहेगी। मुकेश का इंटरव्यू तिहाड़ जेल के भीतर किया गया था।

About Editor

Check Also

आर्मी चीफ नरवणे की चेतावनी, LoC पार करने वाले आतंकी जिंदा नहीं लौट पाएंगे

नई दिल्ली जम्मू-कश्मीर के नगरोटा इलाके में गुरुवार सुबह सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को मार ...

Leave a Reply