Thursday , June 17 2021
Home / भोपाल/ म.प्र / कस्तूरबा में अधिकारी की पिटाई तो कारखाने में इंजीनियर ने पीटा वर्कर को

कस्तूरबा में अधिकारी की पिटाई तो कारखाने में इंजीनियर ने पीटा वर्कर को

भोपाल।

29-bhel-1-225x300भारत हेवी इलेक्ट्रिकल लिमिटेड(भेल) भोपाल यूनिट के दो दिवसीय दौरे पर आए दो डायरेक्टर के रहते मंगलवार का दिन दंगल के रूप में देखा गया। कारखाने में दो और कस्तूरबा अस्पताल में हुई बड़ी घटनाओं का दाग भेल प्रबंधन को झेलना पड़ा। भेल के एक लेखा अधिकारी की कैंसर से पीडि़त पत्नी को गंभीर हालत में कस्तूरबा की एम्बूलेंस से कैंसर अस्पताल लेजाते समय आक्सीजन खत्म हो जाने से नाराज उसके पति ने जब शिकायत की तो कुछ ठेका मजदूरों ने उसकी जमकर पिटाई कर दी। इधर कारखाने के ईएम ग्रुप में एक अपर महाप्रबंधक द्वारा वर्करों के जॉब कार्ड को लेकर अभद्र व्यवहार किए जाने से नाराज कर्मचारियों ने जमकर हंगामा किया। तो दूसरी ओर न्यू टीआरएम ब्लाक में एक इंजीनियर द्वारा वर्कर के साथ मारपीट की घटना ने भी प्रबंधन को परेशान कर रखा है। इसको लेकर बुधवार को भेल कारखाने के ब्लाकों में काम बंद करने की चेतावनी दी है।
29-bhel-2-225x300जानकारी के मुताबिक भेल कारखाने के प्रशासनिक भवन स्थित फायनेंस विभाग में पदस्थ लेखा अधिकारी श्वेतानंद की पत्नी कैंसर की बीमारी से पीडि़त हैं। श्वेतानंद अपनी पत्नी आरती को कस्तूरबा अस्पताल से एम्बूलेंस में जवाहरलाल नेहरू कैंसर अस्पताल ले जा रहे थे। अस्पताल ले जाते वक्त रास्ते में एम्बूलेंस का आक्सीजन सिलेंडर बंद हो गया। दूसरा सिलेंडर लगाया तो वह भी बंद हो गया। दो अन्य सिलेंडर भी खाली ही थे। ऐसी स्थिति में वह मरीज और एम्बूलेंस को वापस कस्तूरबा अस्पताल लेकर आ गए। यहां पर इस लापरवाही की शिकायत करने के लिए अस्पताल की सीएमओ के कक्ष में गए तो यहां मालूम हुआ कि सीएमओ अस्पताल की नई बिल्डिंग में हैं। इसके बाद श्वेतानंद वहां गए तो उनके और ठेकेदार की लेबर के बीच में झगड़ा हो गया। झगड़ा इतना बढ़ गया कि ठेका श्रमिकों ने श्वेतानंद की जमकर पिटाई कर दी। पिटाई कांड के बाद अधिकारी को आईसीयू में भर्ती किया गया। इस कांड की भनक जैसे ही कर्मचारी ट्रेड यूनियनों को लगी तो यूनियनों के पदाधिकारी कस्तूरबा अस्पताल पहुंच गए। देखते ही देखते यहां पर कर्मचारियों की भीड़ जमा हो गई। कर्मचारियों ने इसके खिलाफ अस्पताल में जमकर हंगामा मचाया और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। इस बीच पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने पीडि़त के बयान भी लिए। दूसरी घटना सुबह 8.30 बजे की बताई जा रही है। कारखाने के ईएम ग्रुप के अपर महाप्रबंधक विकास खरे कर्मचारियों के जॉब कार्ड को लेकर यहां के वर्करों के साथ अभद्र व्यवहार कर धमकाने लगे। उन्होंने अपनी बांह चढ़ाते हुए वर्करों से जैसे ही आरपार की लड़ाई का मूड बनाया तब-तक ट्रेड यूनियन के नेता रामनारायण गिरी अपने साथियों के साथ पहुंच गए। उन्होंने एजीएम के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए नारेबाजी की और प्रशासनिक भवन भी पहुंचे। तीसरी घटना शाम 4.30 बजे कारखाने के न्यू टीआरएम ब्लाक में घटी। जब स्वैप कार्ड में जब वर्करों का पैसा कटने का विरोध इंटक नेता सत्येन्द्र शर्मा ने किया तो यहां पदस्थ इंजीनियर सोमेन्द्र कुमार ने उनके साथ मारपीट शुरू कर दी। फिर यह मामला दोनों पक्षों के बीच मारपीट में बदल गया। खबर लगते ही इंटक नेता दीपक गुप्ता,ट्रेड यूनियन नेताओं के साथ पहुंच गए। उन्होंने प्रेरणा भवन में जमकर हंगामा किया। इस घटना के बाद सोमेन्द्र और सत्येन्द्र शर्मा को कस्तूरबा अस्पताल में भर्ती किया गया। श्री शर्मा लो ब्लड प्रेशर के मरीज हैं। लगातार हुई इन घटनाओं से जहंा प्रबंधन स्तब्ध है वहां भेल के कर्मचारी परेशान दिखाई दिए। खास बात यह है कि मंगलवार को यह घटनाएं उस समय घटी जब भेल के डायरेक्टर मानव संसाधन आर कृष्णन और भेल कारपोरेट के ईडी मानव संसाधन जिनका कि भेल के अगले डायरेक्टर मानव संसाधन के लिए चयन किया गया श्री बंधोपाध्याय जी भेल भोपाल में डाक्टरों की अंतर यूनिट मीट में भाग लेने आए थे। मजेदार बात यह है कि मंगलवार को ही श्री बंधोपाध्याय भेल कारखाने के ब्लाकों का अवलोकन भी कर रहे थे।

About Editor

Check Also

हार के बाद भी शिवराज सरकार में इमरती देवी और गिर्राज दंडोतिया बने हैं मंत्री, आगे क्या

भोपाल उपचुनाव में शिवराज सरकार में शामिल 2 मंत्री चुनाव हार गए हैं। चुनाव हारने ...

Leave a Reply