Thursday , July 22 2021
Home / राष्ट्रीय / चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के गृह नगर शिआन पहुंचे पीएम मोदी

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के गृह नगर शिआन पहुंचे पीएम मोदी

नई दिल्ली 

Modi-in-China-300x224तीन देशों के दौरे पर निकले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार सुबह करीब चार बजे चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के गृह नगर शिआन पहुंचे। मोदी तीन दिनों तक चीन में रहेंगे, जिसके बाद वह मंगोलिया और दक्षिण कोरिया जाएंगे। अपने इस दौरे से पहले मोदी ने चीनी मीडिया से कहा था, ‘मैं चीन यात्रा का इंतजार कर रहा हूं… 21वीं सदी एशिया का है।’

प्रधानमंत्री के तौर पर चीन का पहला दौरा करने वाले मोदी शिआन में आयोजित एक सम्मलेन में हिस्सा लेंगे। इसे पिछले साल सितंबर में भारत दौरे पर आए चीनी राष्ट्रपति का अहमदाबाद में मोदी द्वारा स्वागत किए जाने के बदले के तौर पर देखा जा रहा है। मोदी के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल और विदेश सचिव एस. जयशंकर के अलावा कई वरिष्ठ अधिकारियों का दस्ता साथ है।

पीएम मोदी ने उम्मीद जताई कि उनका यह दौरा भारत-चीन की दोस्ती को गहरा तो करेगा ही, एशिया और विकाशसील देशों के लिए नया माइलस्टोन भी तय करेगा। उन्होंने कहा, ‘मुझे विश्वास है कि मेरा यह दौरा भारत-चीन की दोस्ती को गहरा तो करेगा ही, एशिया के विकाशसील देशों के साथ ही पूरी दुनिया के बीच रिश्तों के लिए नया माइलस्टोन भी साबित होगा।’

मोदी ने कहा कि वह इस बात पर फोकस करना चाहते हैं कि आने वाले समय में भारत और चीन किस तरह से पारस्परिक विश्वास और भरोसे को मजबूत कर सकते हैं, ताकि रिश्ते की पूरी क्षमता का अहसास किया जा सके। चीनी सरकार द्वारा संचालित टीवी चैनल सीसीटीवी से उन्होंने कहा, ‘मेरी नजर हमारे आर्थिक संबंधों में गुणात्मक उन्नयन के लिए रोडमैप तैयार करने और भारत के आर्थिक विकास में चीन की बड़ी भागीदारी तलाश करने पर है। खासकर भारत के निर्माण क्षेत्र और बुनियादी ढांचे में बदलाव में चीन की भागीदारी पर।’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उन्हें इस बात का विश्वास है कि भारत और चीन के बीच का रिश्ता सदी के सबसे महत्वपूर्ण रिश्तों में एक हो सकता है। चीन की सरकारी न्यूज एजेंसी शिन्हुआ ने मोदी के हवाले से लिखा है, ‘मेरी इच्छा है कि इसकी आधारशिला रखने के लिए चीनी नेतृत्व के साथ काम करूं।’ उन्होंने कहा कि हाल के वर्षों में भारत और चीन के बीच द्विपक्षीय रिश्तों में जबरदस्त प्रगति हुई है। दोनों देशों ने अपने मतभेदों पर धैर्य और परिपक्वता दिखाई है।

बहरहाल, दो साल पहले सत्ता संभालने के बाद शी चिनफिंग पहली बार बिजिंग से बाहर किसी विदेशी नेता का स्वागत करेंगे और मोदी के साथ लंबे समय तक अनौपचारिक बातचीत करेंगे। इसके अलावा शी उन्हें बौद्ध धर्म को लोकप्रिय बनाने में संत जुआन जांग के योगदान की स्मृति में छठी सदी इसा पूर्व निर्मित प्रतिष्ठित वाइल्ड गूज पैगोडा की यात्रा पर भी ले जाएंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा अकेले ऐसे विदेशी नेता हैं जिन्हें अपेक समिट के दौरान पिछले साल शी चिनफिंग ने बीजिंग के इम्पीरियल गार्डेन की शैर कराई थी, जहां चीन के बड़े नेताओं का आवास है।

About Editor

Check Also

आर्मी चीफ नरवणे की चेतावनी, LoC पार करने वाले आतंकी जिंदा नहीं लौट पाएंगे

नई दिल्ली जम्मू-कश्मीर के नगरोटा इलाके में गुरुवार सुबह सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को मार ...

Leave a Reply