Friday , February 26 2021
Home / राष्ट्रीय / महिला खुद कमाए, गुजारे की जरूरत क्यों: कोर्ट

महिला खुद कमाए, गुजारे की जरूरत क्यों: कोर्ट

नई दिल्ली

court-300x223एक महिला द्वारा अपने पति से गुजारा भत्ता मांगने पर कोर्ट ने महिला की मांग को खारिज कर दिया। कोर्ट ने कहा कि आज के समय में महिलाओं से घर में आर्थिक मदद की उम्मीद की जाती है, ना कि बेकार बैठने की।  महिला द्वारा की गई गुजारे की मांग को खारिज करते हुए कोर्ट ने कहा कि महिला ने खुद यह स्वीकार किया है कि उसने ब्यूटिशन का कोर्स किया है जिसका मतलब है कि उसके पास काम करने और कमाने का हुनर तो है, लेकिन इसके बावजूद वह काम करना नहीं चाहती।

मेट्रोपॉलिटन मैजिस्ट्रेट मोना टारडी ने फैसला सुनाते हुए कहा कि उक्त महिला ने खुद स्वीकार किया है कि उसने ब्यूटिशन का कोर्स किया है। उन्होंने यह भी कहा कि महिला ने काम ना करने के अपने फैसले का कोई कारण नहीं दिया है।   उन्होंने आगे कहा कि आज के जमाने में महिलाओं से भी उम्मीद है कि वह काम कर घर में आर्थिक रूप से सहयोग करेंगी। इसी आधार पर कोर्ट ने फैसला सुनाया कि शिकायतकर्ता के पक्ष में वित्तीय गुजारे का फैसला नहीं दिया जा सकता है।

अपनी अपील में महिला ने दलील दी थी कि वह एक गृहिणी थी और अब पति से अलग होने के बाद गुजारे के लिए अपने माता-पिता पर निर्भर है। इसी आधार पर महिला ने अपने पति से हर महीने गुजारे की मांग की थी। उसने यह भी दावा किया था कि उसके पति की मासिक आय 60,000 रुपये है।  वहीं, उसके पति ने कहा कि वह बेरोजगार है। उसने यह भी दलील दी कि उसकी पत्नी एक प्रशिक्षित ब्यूटिशन है और एक ब्यूटी पार्लर में काम कर 15,000 रुपये मासिक कमाती है इसलिए उसे गुजारे की रकम की जरूरत नहीं है।

About Editor

Check Also

आर्मी चीफ नरवणे की चेतावनी, LoC पार करने वाले आतंकी जिंदा नहीं लौट पाएंगे

नई दिल्ली जम्मू-कश्मीर के नगरोटा इलाके में गुरुवार सुबह सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को मार ...

Leave a Reply