Monday , February 22 2021
Home / राष्ट्रीय / देशभर का एक-चौथाई गैंग रेप अकेले यूपी में

देशभर का एक-चौथाई गैंग रेप अकेले यूपी में

नई दिल्ली 

crime-300x224उत्तर प्रदेश महिलाओं के लिए कितना सुरक्षित है, इसका आकलन एनसीआरबी ( नैशनल क्राइम रिकॉर्ड्स ब्यूरो) के आंकड़े से किया जा सकता है। इसके मुताबिक, साल 2014 में देशभर में 2300 गैंग रेप के मामले सामने आए, जिनमें से अकेले 570 मामले उत्तर प्रदेश के हैं।  यह पहली बार है जब एनसीआरबी ने महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध गैंग रेप, पीछा करना, कार्य स्थल पर यौन उत्पीड़न और पब्लिक ट्रांसपोर्ट में छेड़छाड़ को लेकर आंकड़ा पेश किया है।

एनसीआरबी ने आंकड़ा जुटाने का फैसला 2012 के निर्भया गैंगरेप के बाद किया था। इसका उद्देश्य है कि यौन हिंसा के पैटर्न को पहचान कर इसे रोकने के उपाय कर सके। 2014 के आंकड़े के मुताबिक, देशभर में रेप के 36,700 मामले सामने आए, जिसमें 197 पुलिस कस्टडी में किए गए थे। इनमें से करीब 90% यानी 189 मामले अकेले उत्तर प्रदेश के हैं।

उत्तर प्रदेश के बाद अगले पायदान पर हरियाणा और दिल्ली है, जहां प्रति एक लाख क्रमशः 1.9 और 1.6 गैंग रेप के मामले दर्ज किए गए हैं। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की बात करें, तो यहां निर्भया कांड के बाद पुलिस मुस्तैद हो गई है और वह कोशिश कर रही है कि हर ऐसे मामले को दर्ज कर उसकी जांच सुनिश्चित की जाए।  एनसीआरबी की रिपोर्ट के मुताबिक, इस अवधि में देश में रेप की कोशिश करने के 4200 मामले, जबकि महिलाओं का पीछा करने के 4600 मामले दर्ज किए गए हैं।

About Editor

Check Also

आर्मी चीफ नरवणे की चेतावनी, LoC पार करने वाले आतंकी जिंदा नहीं लौट पाएंगे

नई दिल्ली जम्मू-कश्मीर के नगरोटा इलाके में गुरुवार सुबह सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को मार ...

Leave a Reply