Sunday , February 28 2021
Home / अन्य राज्य / भारत / सरकार बनते ही PDP ने कहा, अफजल का शव सौंपो

सरकार बनते ही PDP ने कहा, अफजल का शव सौंपो

जम्मू

afzal-guru-091213-verdictजम्मू-कश्मीर में पीडीपी-बीजेपी की गठबंधन सरकार को बने दो दिन ही हुए हैं और विवाद हैं कि थम नहीं रहे। मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद के पाक की तारीफ वाले विवादित बयान के बाद सोमवार को पीडीपी ने मोदी सरकार से संसद पर हमले के गुनहगार आतंकी अफजल गुरु का शव सौंपने की मांग कर नया सियासी तूफान खड़ा कर दिया । पीडीपी की इस मांग ने सहयोगी बीजेपी को बेहद असहज स्थिति में डाल दिया है।

संसद पर हमले के दोषी अफजल को तिहाड़ में फांसी दे दी गई थी और जेल परिसर में ही उसके शव को दफना दिया गया था। अफजल गुरु कश्मीर का ही रहने वाला था। पीडीपी काफी समय से अफजल का शव घाटी में लाए जाने की मांग करती रही है। राज्य में बीजेपी के साथ गठबंधन सरकार बनाने के बाद पीडीपी विधायकों ने सोमवार को इस विवादित मुद्दे को फिर हवा दे दी।

सोमवार को राजा मंजूर अहमद, मोहम्मद अब्बास वानी, यावर दिलावर वीर, ऐडवोकेट मोहम्मद यूसुफ, एजाज अहमद मीर, नूर मोहम्मद शेख समेत पीडीपी के आठ विधायकों ने अफजल गुरु का यह मुद्दा उठाया।  इन विधायकों ने कहा कि अफजल गुरु पर पार्टी का जो स्टैंड पहले था वही आज भी है। हमने तब भी अफजल गुरु की फांसी के बाद शव की मांग की थी और अब भी हम उस पर कायम हैं।

पीडीपी के इन विधायकों ने अफजल गुरु की फांसी को असंवैधानिक करार दिया। उन्होंने इस फांसी को इंसाफ के साथ मजाक करार दिया।  वहीं प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी नैशनल कॉन्फ्रेंस ने पीडीपी की इस मांग को सनसनी फैलाने का हथकंडा करार दिया। पीडीपी के विवादित बयानों के बारे में जब बीजेपी नेता सुब्रमण्यन स्वामी से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि यदि पीडीपी इसी भाषा में लगातार बोलती रही तो नुकसान उसी का होगा।

फांसी के बाद दोषी का शव परिवार वालों को सौंपा जाता है, लेकिन अफजल गुरु के मामले में ऐसा नहीं किया गया था। तब की यूपीए सरकार ने कश्मीर घाटी में अशांति फैलने की आशंका और मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए शव की अंत्येष्टि जेल परिसर में ही कर दी थी। सरकार के इस कदम की पीडीपी और नैशनल कॉन्फ्रेंस ने आलोचना की थी।

About Editor

Check Also

स्कूल खुलते बच्चों में फैला कोरोना, हरियाणा में 80 छात्रों के पॉजिटिव होने से मचा हड़कंप

रेवाड़ी कोरोना महामारी के बीच तमाम ऐहतियातों के साथ अलग-अलग राज्यों में स्कूलों को खोला ...

Leave a Reply