Saturday , April 10 2021
Home / अंतरराष्ट्रीय / आतंकवाद से लड़ने के लिए 34 मुस्लिम देश आए साथ

आतंकवाद से लड़ने के लिए 34 मुस्लिम देश आए साथ

रियाद

5670246cb6cef.image_-300x210आतंकवाद के खतरे से निपटने के लिए सऊदी अरब के नेतृत्व में नया अभियान शुरू कि गया है। सऊदी अरब की अगुआई में 33 मुस्लिम देशों ने आतंकवाद से मुकाबला करने के लिए ‘इस्लामिक सैन्य गठजोड़’ बनाने पर सहमति जताई है। शिया बहुल ईरान और ओमान इसमें शामिल नहीं हैं। इसका मुख्यालय रियाद में होगा। मौजूदा दौर में नाटो के बाद दुनिया में अपनी तरह का संभवत: दूसरा सैन्य गठबंधन है। सऊदी अरब की सरकारी प्रेस एजेंसी में प्रकाशित रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी है।

इसमें आतंकवाद से सभी तरह से मुकाबला करने और उसे खत्म करने के लिए सहयोग की जरूरत बताई गई है। अप्रत्याशित तरीके से मीडिया से रूबरू हुए सऊदी के रक्षा मंत्री मुहम्मद बिन सलमान ने कहा, ‘नया इस्लामिक सैन्य गठजोड़ सुन्नी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आइएस) से मुकाबला करेगा। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जारी आतंकविरोधी प्रयासों में मदद के लिए अन्य देशों और वैश्विक संगठनों से सहयोग के तरीके भी तलाशे जाएंगे। फिलहाल सभी मुस्लिम देश अपने स्तर पर आतंकवाद से लड़ रहे हैं, ऐसे में समन्वित प्रयास बहुत महत्वपूर्ण है। रियाद को अभियान का केंद्र बनाया जाएगा।’

कई बड़े मुस्लिम देश शामिल
सऊदी अरब के प्रयास को बड़े मुस्लिम देशों का भी समर्थन हासिल है। पाकिस्तान, तुर्की, मिस्न, लीबिया, यमन जैसे देश भी नए गठजोड़ में शामिल होने पर तैयार हो गए हैं। माली, चाड, सोमालिया, नाइजीरिया जैसे अफ्रीकी राष्ट्र भी इसके सदस्यों में से हैं। इसके अलावा मालदीव, बहरीन, बेनिन, कुवैत, कतर और संयुक्त अरब अमीरात ने भी गठजोड़ में शामिल होने पर सहमति जताई है। लेकिन ओमान, इराक और सीरिया के नाम इस सूची से गायब हैं।

ये देश इस्लामिक सहयोग संगठन के भी सदस्य हैं। साथ गठजोड़ के सभी देश आतंक की चपेट में हैं। आइएस, बोको हराम और अलकायदा से जुड़े संगठन इन देशों के लिए गंभीर चुनौती बन चुके हैं। मुस्लिम देशों में आइएस के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए भी सभी देशों के बीच सैन्य सहयोग जरूरी हो गया था। सऊदी अरब के नेतृत्व में यमन के हाउती विद्रोहियों के खिलाफ हवाई हमले किए जा रहे हैं।

About Editor

Check Also

पुरुष यात्री हुआ ‘असहज’ तो मुस्लिम महिला को फ्लाइट से निकाला

एक मुस्लिम एक्टिविस्ट ने आरोप लगाया है कि उन्हें फ्लाइट से महज इसलिए बाहर कर ...

Leave a Reply