Saturday , May 8 2021
Home / भोपाल/ म.प्र / सिंहस्थ में अनिष्टकारी योग, सरकार ने संतों से पूछा क्या करें

सिंहस्थ में अनिष्टकारी योग, सरकार ने संतों से पूछा क्या करें

उज्जैन

parv2015-300x225ज्योतिष की दृष्टि से सिंहस्थ के दौरान अनिष्टकारी ग्रह योग बन रहे हैं। कई ज्योतिषाचार्य यह कह चुके हैं। अब सरकार ने भी इस पर चिंता जताई है। संतों सहित ज्योतिषाचार्यों से पूछा जा रहा है कि क्या करें। संभागायुक्त ने यह जिम्मा सिंहस्थ प्राधिकरण अध्यक्ष को सौंपा है। ज्योतिषाचार्य अनुष्ठान पर 2-3 करोड़ रुपए का खर्च बता रहे हैं। ज्योतिष अनुसार 27 जनवरी से अगस्त 2016 तक राहु और गुरु का युतीय योग है, जिसे गुरु चांडाल योग कहा जाता है।

यह अनिष्टकारक होता है। इस अवधि में ही सिंहस्थ है। सिंहस्थ की कुंडली के हिसाब से मेष राशि पर मुख्य स्नान होगा। चार ग्रहों की युतीय, उस पर राहु और गुरु की पूर्ण दृष्टि है। इस परिस्थिति में ग्रह टकराएंगे। ज्योतिष शास्त्र की दृष्टि से तब प्राकृतिक आपदा, महामारी जैसे योग बनेंगे। ऐसे योग 96 साल पहले सन 1921 में बने थे।

ये सुझाव दिए गए

-ज्योतिर्विद पं. आनंदशंकर व्यास के अनुसार योग के प्रभाव को कम करने के लिए लक्ष्यचंडी, अतिरुद्र यज्ञ, गणपति लक्ष्य आवर्तन, शनि-मंगल ग्रह शांति यज्ञ कराए जाने का सुझाव दिया है। इन पर करीब 2-3 करोड़ रुपए का खर्च अनुमानित है।

-तिरुपति धाम मंदिर के रामानुजाचार्य स्वामी श्री कांताचार्यजी महाराज के अनुसार प्रशासन केवल सिंहस्थ की व्यवस्था देखे। साधु-संन्यासी को मिलकर अनिष्टकारी योग का उपाय करना चाहिए।

About Editor

Check Also

हार के बाद भी शिवराज सरकार में इमरती देवी और गिर्राज दंडोतिया बने हैं मंत्री, आगे क्या

भोपाल उपचुनाव में शिवराज सरकार में शामिल 2 मंत्री चुनाव हार गए हैं। चुनाव हारने ...

Leave a Reply