Sunday , July 25 2021
Home / अन्य राज्य / भारत / न्यू यॉर्क की फैशन लाइफ छोड़ बनीं भिक्षु

न्यू यॉर्क की फैशन लाइफ छोड़ बनीं भिक्षु

city-300x224-300x224एक तरफ लोग विलासितापूर्ण जीवन जीने के लिए तमाम तरह के प्रयास कर रहे हैं तो दूसरी ओर महाराष्ट्र की 27 वर्षीय लड़की ने न्यू यॉर्क की अपनी आधुनिक जीवनशैली का त्याग कर आध्यात्मिक रास्ता चुना।  अब से कुछ महीने पहले तक निशा कपाशी न्यू यॉर्क की गलियों में ब्रैंडेड कपड़ों और अक्सेसरीज में घूमती थीं लेकिन अब नंगे पैर और सफेद कपड़े में रहती हैं। निशा न्यू यॉर्क में टॉप फैशन ब्रैंड जे क्रू की मर्चैंडाइडर थीं। 18 जनवरी को उन्होंने दीक्षा ली और जीवन के तमाम भौतिक सुखों को त्यागते हुए आध्यात्म का रास्ता अपना लिया। निशा कपाशी इन दिनों झारखंड स्थित जैन समाज के तीर्थस्थान ‘सम्मेत शिखर जी’ में रहकर साधना कर रही हैं। निशा के पिता का कहना है कि उनकी बेटी बचपन से बेहद नटखट और बाहर घूमने जाने में खुश रहने वाली थी लेकिन अचानक उसकी जैन दर्शन में रुचि जगी।

निशा के पिता मनोज के मुताबिक, न्यू यॉर्क में जैन समाज के एक कार्यक्रम में निशा ने कहा था कि फैशन इंडस्ट्री पूरी तरह से एक दिखावा है। यहां लोग मार्केटिंग के शिकार होकर बड़े ब्रैंड के उत्पाद पहनने और उपयोग करने में आत्मसंतुष्टि महसूस करते हैं लेकिन यह थोड़े ही दिन बाद लोगों को खोखला बना देता है।

निशा का मानना था कि आप जब अपने मनपसंद करियर और उसमें तरक्की हासिल करने के बाद भी मानसिक तौर पर शांति महसूस नहीं करते तो कई सवाल आपको घेरने लगते हैं। बकौल निशा, मैं एक ऐसी जिंदगी जी रही थी जो लोग लोगों को सपना होता है लेकिन वहां उसमें शांति नहीं थी। यही समय था जब निशा ने जैन दर्शन पर गहनता से विचार किया और आध्यात्मिक सफर पर निकलने का फैसला किया।

जैन भिक्षु नायपदमासागरजी महाराज का कहना है कि भौतिक सुख-साधनों का त्याग कर आध्यात्म का रास्ता चुनना आसान नहीं होता। निशा ने ठीक रास्ता चुना है और यह ही सही रास्ता है। भारत में करीब 14,500 जैन भिक्षु हैं और इनमें से 75 फीसदी महिलाएं हैं। जैन समुदायों के कुछ लोगों का मानना है कि 15 से 27 साल की आयु के बीच ही कोई व्यक्ति अपने अस्तित्व को लेकर खुद से सवाल करता है और इसी उम्र में वह आध्यात्मिक रास्ता चुनता है।

About mpekhabar bhopal

Check Also

स्कूल खुलते बच्चों में फैला कोरोना, हरियाणा में 80 छात्रों के पॉजिटिव होने से मचा हड़कंप

रेवाड़ी कोरोना महामारी के बीच तमाम ऐहतियातों के साथ अलग-अलग राज्यों में स्कूलों को खोला ...

Leave a Reply