Wednesday , May 12 2021
Home / अंतरराष्ट्रीय / ईरान और 6 बड़ी ताकतों के बीच न्‍यूक्लियर डील फाइनल, गिरीं तेल की कीमतें

ईरान और 6 बड़ी ताकतों के बीच न्‍यूक्लियर डील फाइनल, गिरीं तेल की कीमतें

वियना

nuclear_1436863189ईरान और दुनिया के सबसे ताकतवर छह देशों (अमेरिका, रूस, ब्रिटेन, चीन, फ्रांस और जर्मनी) के बीच लंबे समय से चला आ रहा न्‍यूक्लियर विवाद सुलझ गया है। मंगलवार को ईरान और छह सुपर पावर्स के प्रतिनिधियों के बीच कुछ ही मिनट की मीटिंग के बाद डील फाइनल हो गई। हालांकि, अभी इसका ऑफिशियल अनाउंसमेंट नहीं किया गया है। इस डील की खबरें सामने आते ही वर्ल्ड मार्केट में तेल की कीमतों में गिरावट देखी गई। अमेरिकी बाजार में क्रूड ऑयल की कीमत 56.96 प्रति बैरल से 51.12 पर बैरल हो गई। एक्सपर्ट्स मानते हैं कि इस डील के लागू होने के बाद वर्ल्ड मार्केट में तेल की कीमतें और भी कम हो सकती हैं। हालांकि, इसमें कुछ महीने लगेंगे, क्योंकि इस डील की शर्तें तुरंत इफेक्ट में नहीं लाई जा सकतीं।

ईरान को क्या होगा फायदा इस डील के बाद ईरान पर लंबे समय से लगे आर्थिक प्रतिबंध हटा लिए जाएंगे। डील के बाद ईरान के एक डिप्लोमैट ने नाम न बताने की शर्त पर कहा, “आखिरकार, हम एक अच्छे नतीजे पर पहुंचे गए हैं, भगवान हमारे देश की रक्षा करेगा।”

दुनिया और भारत को क्या हासिल होगा इस समझौते के बाद ईरान के मुद्दे पर टकराव खत्म होगा। ईरान अपना ऑयल प्रोडक्शन तेजी से बढ़ाएगा और इस वजह से दुनिया में तेल की कीमतें काफी हद तक काबू में आ सकेंगी। भारत और ईरान के बीच रिश्ते हमेशा से अच्छे रहे हैं, हालांकि भारत ने यूएन में ईरान के खिलाफ वोटिंग की थी। भारत ईरान से कम कीमत पर तेल इम्पोर्ट कर सकेगा। इससे इंडियन इकोनॉमी रफ्तार पकड़ सकेगी। भारत ईरान को आईटी समेत कई क्षेत्रों में मदद कर अपना एक्सपोर्ट भी बढ़ा सकेगा।

और यूएन का शक ऐसे होगा दूर इस डील के बाद अब यूएन के न्यूक्लियर एक्सपर्ट की टीम ईरान के हर उस न्यूक्लियर प्लांट को एग्जामिन और इंस्पेक्ट कर सकेगी, जहां पर न्यूक्लियर वेपंस बनाए जाने का शक होगा। इसमें ईरान आर्मी के बेस भी शामिल होंगे।

About Editor

Check Also

पुरुष यात्री हुआ ‘असहज’ तो मुस्लिम महिला को फ्लाइट से निकाला

एक मुस्लिम एक्टिविस्ट ने आरोप लगाया है कि उन्हें फ्लाइट से महज इसलिए बाहर कर ...

Leave a Reply