Wednesday , August 4 2021
Home / भोपाल/ म.प्र / ‘सोनू’ को इच्छामृत्यु से जू कर्मचारी गमगीन

‘सोनू’ को इच्छामृत्यु से जू कर्मचारी गमगीन

इंदौर

bhalu-300x200मध्य प्रदेश के इंदौर जू में दर्द से कराह रहा एक भालू जिसका नाम सोनू है आज दर्द से निजात पा जाएगा। भारत में पहली बार किसी जानवर को दया याचिका पर मौत दी जा रही है। इंदौर जू के जिन कर्मचारियों ने अपनी आखों के सामने सोनू को बड़ा होते देखा पाला-पोसा आज उन्हीं के सामने सोनू को हमेशा के लिए मौत की नींद सुला दिया जाएगा।

तीन साल पहले सोनू को पैरालिसिस हो गया। इस दौरान ऐसा कोई भी इलाज़ नहीं बचा जो सोनू के दर्द को मिटाने के लिए न किया गया हो लेकिन कोई फर्क नहीं पड़ा। ऐसे में इंदौर प्रशासन ने सेंट्रल जू अथॉरिटी से दया मृत्यु की गुहार लगाई थी। जिस पर गुरूवार को हामी भर दी गई थी। पूरी प्रक्रिया के दौरान जानवरों की सुरक्षा के लिए बनाई गई संस्था पेटा के सदस्य भी शामिल रहे, जिन्होंने सोनू की हालत देखकर उसे इच्छा मृत्यु देने के लिए अपनी सहमति दी।

सोनू को विशेषज्ञों की एक टीम के नेतृत्व में लैब में तैयार तीन इंजेक्शन लगाए जाएंगे। बता दें कि एक भालू का सामान्य जीवन 25-30 साल का होता है और सोनू 35 साल का हो चुका है। ऐसे में उम्र के इस पड़ाव में उसका दर्द दूसरी शारीरिक समस्याएं भी बढ़ा रही थीं, लेकिन अब उसे इस दर्द से हमेशा के लिए निजात मिल जाएगी।

About Editor

Check Also

हार के बाद भी शिवराज सरकार में इमरती देवी और गिर्राज दंडोतिया बने हैं मंत्री, आगे क्या

भोपाल उपचुनाव में शिवराज सरकार में शामिल 2 मंत्री चुनाव हार गए हैं। चुनाव हारने ...

Leave a Reply