Sunday , February 28 2021
Home / अन्य राज्य / भारत / छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में सात जवान शहीद

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में सात जवान शहीद

सुकमा

Maoist-300x256छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में सात जवान शहीद हो गए हैं। हमले में 10 जवान जख्मी भी हो गए हैं। नक्सलियों ने घात लगाकर एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) के जवानों पर हमला किया। इस साल का सुरक्षाकर्मियों पर यह सबसे बड़ा नक्सल हमला है।

मुठभेड़ सुकमा के पिडमेल इलाके में हुई। नक्सलियों ने शनिवार को सुबह 10 बजे घात लगाकर जवानों पर हमला किया। एसटीएफ के जवान तलाशी के लिए निकले थे। नक्सलियों ने फायरिंग कर उन्हें निशाना बनाया।

शुरुआती रिपोर्ट्स के मुताबिक, एसटीएफ के जवान सुकमा के दोरनपाल इलाके में तलाशी अभियान के लिए निकले थे। इस इलाके में नक्सलियों का दबदबा है। इसकी सीमा आंध्र प्रदेश से लगी हुई है। तलाशी अभियान के दौरान ही 100 के लगभग नक्सलियों ने उन पर हमला बोल दिया। नक्ललियों ने जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी और जवानों ने भी जवाबी फायरिंग की। मुठभेड़ लगभग दो घंटे तक चली।

शहीद जवानों में प्लाटून कमांडर शंकर राव, हेड कॉन्स्टेबल रोहित सोरी और कॉन्स्टेबल मनोज बघेल, मोहन उइके और किरण देशमुख शामिल हैं। एडीजी( नक्सल ऑपरेशन) आरके विज ने कहा, ‘सात लोग मारे गए हैं। हमने एक बहादुर प्लाटून कमांडर को भी को दिया है। पूरी डिटेल अभी नहीं आई है।

इससे पहले पिछले साल दिसंबर में भी जवानों पर नक्सलियों का हमला हो चुका है। नक्सलियों ने सीआरपीएफ पर अंधाधुंध गोलियां बरसाई थीं। इसमें सीआरपीएफ के दो अधिकारियों समेत 13 जवानों की मौत हो गई थी और करीब एक दर्जन सुरक्षाकर्मी घायल हुए थे। पुलिस सूत्रों का कहना है कि हताहतों की संख्या और बढ़ सकती है। घायल जवानों को इलाज के लिए जगदलपुर भेजा गया है। इसके अलावा अप्रैल, 2010 में नक्सलियों के हमले में 74 जवान मारे गए थे।

About Editor

Check Also

स्कूल खुलते बच्चों में फैला कोरोना, हरियाणा में 80 छात्रों के पॉजिटिव होने से मचा हड़कंप

रेवाड़ी कोरोना महामारी के बीच तमाम ऐहतियातों के साथ अलग-अलग राज्यों में स्कूलों को खोला ...

Leave a Reply