Saturday , February 20 2021
Home / मनोरंजन / ग्लैमर / उड़ता पंजाब: सेंसर बोर्ड के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट पहुंचे अनुराग कश्यप

उड़ता पंजाब: सेंसर बोर्ड के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट पहुंचे अनुराग कश्यप

नई दिल्ली

udta-300x200फिल्म उड़ता पंजाब पर जारी विवाद के बीच प्रोड्यूसर अनुराग कश्यप को बॉम्बे हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है। अनुराग कश्यप ने सेंसर बोर्ड के फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट का रुख करते हुए फिल्म के लिए ए सर्टीफिकेट की मांग की थी। हाईकोर्ट ने अनुराग की याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने आदेश दिया कि अनुराग कश्यप को रिवाइजिंग कमेटी का लेटर दिया जाए। फिल्म में सीन क्यों कट किए गए हैं, वो सारी बातें लेटर में लिखी हैं। ये लेटर सेंसर बोर्ड अनुराग को नहीं दे रहा है।

वहीं सीबीएफसी के सदस्य अशोक पंडित ने कहा कि फिल्म से  किसी को क्या दिक्कत हो सकती है। अगर हम अपने राज्यों के नाम पर फिल्म का नाम नहीं रखेंगे तो फिर किसके नाम पर रखा जाएगा। अगर किसी राजनीतिक पार्टी का दवाब था तो फिर ट्रेलर कैसे रिलीज हुआ। जब ट्रेलर को बिना कट करके लॉन्च होने दिया तो उस समय क्यों रिलीज की। या तो आपने उस समय ड्यूटी नहीं निभाई या ब नहीं निभा रहे हैं।

अनुराग कश्यप बोले- ‘मैंने NDA से ज्यादा UPA में लड़ाइयां लड़ीं ‘
फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ के निर्माताओं में से एक फिल्मकार अनुराग कश्यप ने यह कहकर सरकार की आलोचना की है कि सेंसरशिप के मुद्दे पर केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) के साथ उनकी जंग को राजनीतिक रंग देना गलत है। अनुराग ने ट्वीट किया कि आपको बता दूं कि सेंसरशिप के मुद्दे पर मैंने एनडीए से कहीं अधिक यूपीए में लड़ाई लड़ी है। लेकिन क्या आपको पता है कि उस वक्त वहां कोई निहलानी नहीं थे।

‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ के फिल्मकार ने उन्हें कांग्रेस और आप के एजेंट के तौर पर प्रचारित करने वाले कथित ‘‘पेड ट्रोल्स’’ की आलोचना की। पैसे लेकर सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर गाली गलौज, अपशब्दों से भरे कमेंट्स की बौछार करने वालों को पेड ट्रोल्स कहते हैं।

उन्होंने ट्वीट किया कि और.. यह बहुत निराशाजनक है कि पार्टी समर्थित और पेड ट्रोल्स मुझे कांग्रेस या आप का एजेंट बनाने पर तुले हैं। कश्यप ने बताया कि विवाद से पहले उन्होंने सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ के साथ करीब से काम किया था। उन्होंने कहा कि सेंसरशिप के मुद्दे पर मैं इस मंत्रालय और राज्यमंत्री श्रीमान राठौड़ के साथ करीब से काम कर चुका हूं।

उड़ता पंजाब में 89 नहीं ये 13 सीन काटने को कहा सेंसर बोर्ड ने!
विवादों में चल रही फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ से सेंसर बोर्ड ने 13 सीन काटने को कहा है। इनमें शुरुआत में आने वाले साइन बोर्ड पर से पंजाब शब्द हटाने को कहा गया है। इसके अलावा फिल्म से पंजाब, जालंधर, लुधियाना, चंडीगढ़, अमृतसर, तरनतारण, जश्नपुर, अंबेसर और मोगा जैसे शहरों के नाम हटाने को कहा गया है। फिल्म में कई जगह डॉयलॉग में इन शहरों का नाम आया है। सभी सीन से ये नाम हटाने होंगे।

फिल्म के कुछ और शब्दों पर सेंसर बोर्ड ने आपत्ति जताई है। इनमें इलेक्शन, एमपी, पार्टी फ्रॉम पार्टी वर्कर्स, एमएलए और पंजाब पार्लियामेंट जैसे शब्द हैं, जिन्हें हटाने को कहा गया है। इसके साथ ही फिल्म में जहां भी ड्रग्स वाले इंजेक्शन लेते हुए दिखाया गया है, उन सभी सीन को हटाने को कहा गया है। फिल्म में एक कुत्ते का नाम जैकी चेन रखा गया है। सेंसर बोर्ड ने कुत्ते का नाम भी हटाने का कहा है।

About Editor

Check Also

मिलिंद सोमन के बाद एमी जैक्सन ने कराया न्यूड फोटोशूट

बॉलीवुड में बोल्डनेस के सभी लेवल तोड़ने में विश्वास रखने वालीं एक्ट्रेस एमी जैक्सन एक ...

Leave a Reply