12 यात्रियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि: रेलवे

12 यात्रियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि: रेलवे

- in राष्ट्रीय
0

नई दिल्ली

रेल मंत्रालय ने शनिवार को बताया कि कोरोना वायरस से संक्रमित 12 लोगों ने हाल ही में 2 अलग-अलग ट्रेनों से सफर किया है। इनमें से 8 ने 13 मार्च को दिल्ली से आंध्र प्रदेश संपर्क क्रांति एक्सप्रेस के जरिए रामागुंडम की यात्रा की। इनके अलावा 4 ने 16 मार्च को गोदान एक्सप्रेस से मुंबई से जबलपुर तक सफर किया। रेलवे ने लोगों ने अपील की है कि बहुत ही ज्यादा जरूरी न हो तो पैसेंजर या लंबी दूरी की ट्रेनों से यात्रा करने से बचें।

रेल मंत्रालय ने ट्वीट किया, ’16 मार्च को गोदान एक्सप्रेस (ट्रेन 11055) के जरिए बी-1 कोच में मुंबई से जबलपुर की यात्रा करने वाले 4 यात्रियों में कल (शुक्रवार) को कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। वे पिछले हफ्ते दुबई से भारत आए थे। सभी संबंधित लोगों को जरूरी कदम उठाने के लिए सतर्क कर दिया गया है।’

मंत्रालय ने एक अन्य ट्वीट में बताया, ’13 मार्च को दिल्ली से आंध्र प्रदेश संपर्क क्रांति एक्सप्रेस से रामागुंडम की यात्रा करने वाले 8 यात्रियों में कल कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई। यात्रियों को सलाह दी जाती है कि वे तब तक यात्रा करने से बचें जब तक बहुत जरूरी न हो।’

ये सभी 12 यात्रियों में सफर के वक्त तक कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई थी। लेकिन इनकी वजह से सैकड़ों अन्य लोगों के कोरोना की चपेट में आने की आशंका बढ़ गई है। इससे भी गंभीर चिंता की बात यह है कि जिन लोगों को कोरोना वायरस संक्रमण के संदेह में अनिवार्य रूप से क्वारेंटीन में रहने को कहा गया है, वे भी ट्रेनों में यात्रा करके हजारों लोगों को जोखिम में डाल रहे हैं।

रविवार को बेंगलुरु-दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस में 2 ऐसे लोग मिले, जिन्हें अनिवार्य क्वारेंटाइन में जाने के लिए कहा गया था। दोनों के हाथों पर अनिवार्य क्वारेंटाइन संबंधी निशान लगाए गए थे। पता चलने पर तुरंत इन्हें ट्रेन से उतारा गया।

कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए रेलवे ने भी कई एतहतियाती उपाय किए हैं। 200 से ज्यादा ट्रेनों को रद्द किया जा चुका है। इसके अलावा रविवार से आईआरसीटीसी के सभी फूड प्लाजा, रिफ्रेशमेंट रूम्स, जन आहार और रसोइयों को बंद कर दिया जाएगा। इसके अलावा साउथ वेस्टर्न रेलवे ने प्लेटफॉर्म टिकट के दाम को 31 मार्च तक के लिए 10 रुपये से बढ़ाकर 50 रुपये कर दिया है ताकि लोगों को बहुत जरूरी न होने पर स्टेशनों पर जाने से हतोत्साहित किया जा सके।

Leave a Reply