कोरोना ने स्पेन में मचाया हाहाकार, 24 घंटे में ले ली 100 की जान

कोरोना ने स्पेन में मचाया हाहाकार, 24 घंटे में ले ली 100 की जान

मेड्रिड

यूं तो कोरोना से दुनिया के 134 देश प्रभावित हैं, लेकिन पिछले 24 घंटे के दौरान स्पेन में हालात सबसे ज्यादा खराब हुए हैं। स्पेन में रविवार में कोरोना वायरस से संक्रमण के करीब 2,000 नये मामलों की पुष्टि हुई जबकि गत 24 घंटों में 100 से अधिक लोगों की मौत हुई है। इटली के बाद स्पेन यूरोप का कोरोना वायरस से दूसरा सबसे अधिक प्रभावित देश है।

स्पेन की ओर से जारी अद्यतन आंकड़ों के मुताबिक देश में संक्रमितों की संख्या 7,753 तक पहुंच गई है जिनमें से 288 लोगों की मौत हो चुकी है। हालात की गंभीरता को देखते हुए सरकार ने पूरे देश में लगभग बंदी लागू कर दी है। लोगों के काम पर जाने, दवा या सामान खरीदने के अलावा घर से बाहर निकलने पर रोक लगा दी है।

पाकिस्तान में पांव पसार रहा कोरोना
पाकिस्तान में रविवार को कोरोनावायरस संक्रमण के पांच अन्य मामले सामने आने के बाद यहां कोविड-19 से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 53 हो गई है। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि शनिवार को बलूचिस्तान से दो, कराची से दो और इस्लामाबाद से एक नया मामला सामने आया था, लेकिन रविवार तक कराची में पांच और व्यक्ति कोविड-19 से संक्रमित पाए गए।

इससे पहले पाकिस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (पीआईएमएस) के स्वास्थ्य केंद्र के प्रवक्ता वसीम ख्वाजा ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा था कि हाल ही में इस्लामाबाद आई एक अमेरिकी महिला के जांच में संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। उन्होंने आगे कहा कि मरीज की हालत गंभीर है और उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है। कराची में पांच नए मामलों की पुष्टि के बाद अकेले सिंध प्रांत में बीमारी से संक्रमित व्यक्तियों का आंकड़ा बढ़कर 22 हो गया है। प्रांतीय सरकार ने एहतियातन सभी शैक्षणिक संस्थानों को 30 मई तक के लिए बंद करने के आदेश दिए हैं।

कजाखस्तान में कोरोना को लेकर आपातकाल
कजाखस्तान के राष्ट्रपति ने कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए शनिवार को देशव्यापी आपातकाल की घोषणा की, जिससे यात्रा और व्यापारिक गतिविधियों और अधिक सीमित हो गई है। कजाखस्तान में इस समय कोविड-19 के केवल आठ मामले सामने आये है। राष्ट्रपति कासिम-जोमार्ट टोकायव की वेबसाइट पर प्रकाशित एक आदेश के अनुसार मध्य एशियाई देश सोमवार से शुरू होने वाले नये उपायों का एक महीने के लिए पालन करेगा। आदेश में कहा गया है कि सिनेमा घर आदि मनोरंजन केन्द्र बंद रहेंगे।

कजाखस्तान में विश्व व्यापार संगठन के जून में प्रस्तावित सम्मेलन के आयोजन की भी संभावना नहीं है, लेकिन आधिकारिक फैसला परिषद की आम बैठक में लिया जाना है। पड़ोसी उज्बेकिस्तान में रविवार को कोरोना वायरस का पहला मामला दर्ज किया गया। उज्बेकिस्तान ने अपनी सीमाओं को बंद करने की घोषणा की है।

श्रीलंका ने 16 मार्च को सार्वजनिक अवकाश
श्रीलंका सरकार ने कल (सोमवार 16 मार्च को) देश में सार्वजनिक अवकाश घोषित किया है। देश में कोरोना वायरस मामलों की संख्या बढ़कर 10 होने के बाद रविवार को यह ऐलान किया गया। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार एक बयान में सरकार के सूचना विभाग ने कहा कि पूरे देश में वायरस के प्रसार को रोकने के लिए 16 मार्च को अवकाश घोषित किया गया है। सभी व्यवसाय, दुकानों को बंद रखने के साथ लोगों से घर के अंदर रहने का अनुरोध किया गया है।

इसके साथ ही, 20 मार्च तक सभी स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया गया है। देश में बीमारी के 10 पुष्ट मामलों के अलावा 100 संदिग्धों को निगरानी में रखा गया है। इनमें से अधिकतर अभी हाल ही में इटली से लौटें हैं। सभी को अलग-थलग रखा गया है। सरकार ने फ्लू जैसे लक्षणों से पीड़ित सभी लोगों को संबन्धित 11 अस्पतालों में तुरंत जांच कराने को कहा है। इन अस्पतालों में जांच परीक्षण सुविधा प्रदान की गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय में स्वास्थ्य सेवा महानिदेशक अनिल जसिंगे ने संवाददाताओं से बातचीत में बताया कि आने वाले दिनों में इटली से लौटने वाले श्रीलंका के नागरिकों में अधिक संख्या में मामलों के रिपोर्ट होने की आशंका है। वर्तमान में श्रीलंका सरकार ने यूरोप, दक्षिण कोरिया, इटली और ईरान के यात्रियों पर प्रतिबंध लगा दिया है।

Leave a Reply