कोरोना: PM ने की देशवासियों से प्रार्थना, जिस शहर में हैं, कुछ दिन वहीं रहें

कोरोना: PM ने की देशवासियों से प्रार्थना, जिस शहर में हैं, कुछ दिन वहीं रहें

- in राष्ट्रीय
0

नई दिल्ली

कोरोना वायरस के संक्रमण के डर से शहर छोड़कर गांव लौटने वाले लोगों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपील की है कि वे ऐसा ना करें। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘मेरी सबसे प्रार्थना है कि आप जिस शहर में हैं, कृपया कुछ दिन वहीं रहिए। इससे हम सब इस बीमारी को फैलने से रोक सकते हैं। रेलवे स्टेशनों, बस अड्डों पर भीड़ लगाकर हम अपनी सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। कृपया अपनी और अपने परिवार की चिंता करिए, आवश्यक न हो तो अपने घर से बाहर न निकलिए।’

अगले ट्वीट में पीएम ने कहा, ‘कोरोना के भय से मेरे बहुत से भाई-बहन जहां रोजी-रोटी कमाते हैं, उन शहरों को छोड़कर अपने गांवों की ओर लौट रहे हैं। भीड़भाड़ में यात्रा करने से इसके फैलने का खतरा बढ़ता है। आप जहां जा रहे हैं, वहां भी यह लोगों के लिए खतरा बनेगा। आपके गांव और परिवार की मुश्किलें भी बढ़ाएगा।’

पीएम ने तमिलनाडु सरकार के कदमों की मोदी ने प्रशंसा की
तमिलनाडु में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए राज्य सरकार द्वारा उठाये गए कदमों की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रशंसा की है। मोदी ने शनिवार को मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी को फोन किया और इस वायरस के प्रसार को रोकने के लिए उठाये गए कदमों के लिए उन्हें बधाई दी।

एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया कि मुख्यमंत्री ने मोदी को धन्यवाद दिया और राज्य में अपनी सरकार द्वारा किए गए उपायों के बारे में विस्तार से बताया। पलानीस्वामी ने मोदी को सूचित किया कि रविवार को जनता कर्फ्यू के दौरान तमिलनाडु में उनके नौ सूत्री एजेंडे का पालन किया जाएगा। प्रधानमंत्री ने गुरुवार को ‘सामाजिक मेलजोल से दूरी’ बनाये रखने पर जोर देते हुए रविवार को सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक ‘जनता कर्फ्यू’ का आह्वान किया था।

उन्होंने कहा था, ‘आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को छोड़कर किसी भी नागरिक को ‘जनता कर्फ्यू’ के दौरान अपने घरों से बाहर नहीं निकलना चाहिए। इस वायरस के प्रसार को रोकने की पहल के तहत तमिलनाडु सरकार ने 31 मार्च तक राज्यभर के शिक्षण संस्थानों में छुट्टियां घोषित कर दी हैं।’

राज्य सरकार ने इसके साथ ही शॉपिंग मॉल और ऐसे स्थान भी बंद कर दिये हैं जहां पर लोग बड़ी संख्या में एकत्रित हो सकते हैं। इस बीच, पलानीस्वामी ने शनिवार को विधानसभा को सूचित किया कि 27 मार्च से 13 अप्रैल के बीच होने वाली दसवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं स्थगित कर दी जाएंगी। उन्होंने कहा, ‘‘ये परीक्षाएं तमिल नववर्ष दिवस (15 अप्रैल) के बाद होंगी।’

हालांकि, पलानीस्वामी ने कहा कि कक्षा ग्यारहवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षाएं चल रही हैं और ये निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार आयोजित की जाएंगी। एक अन्य घटनाक्रम के तहत विधानसभा की कार्य मंत्रणा समिति (बीएसी) की आज बैठक हुई जिसमें चल रहे सत्र को पहले ही समाप्त करने का निर्णय किया गया। यह सत्र नौ अप्रैल के बजाय 31 मार्च को समाप्त होगा।

Leave a Reply