सभी डीएम-एसपी नागौर से सीखें, तोड़ दिया कोरोना का चक्रव्यूह!

सभी डीएम-एसपी नागौर से सीखें, तोड़ दिया कोरोना का चक्रव्यूह!

नागौर।

देश में कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा दिनों-दिन बढ़ता जा रहा है। देश में लागू लॉकडाउन के बाद कोरोना पॉजिटिव मामले तेजी से सामने आए है। ऐसे में राजस्थान का एक ऐसा जिला है, जो कोरोना संक्रमण को रोकने में सफल हुआ है। ऐसा तब हुआ है जब इस जिले को चारों तरफ लगने वाले 7 जिलों में कोरोना पॉजिटिव केस है। जी हां, हम बात कर रहे हैं राजस्थान के नागौर जिले की। नागौर जिले में अभी तक कोरोना संक्रमण का कोई भी केस सामने नहीं आया है। कोरोना पॉजिटिव केस वाले जिलों से घिरे नागौर जिले में पूरी सतर्कता बरती जा रही है।

इन सात जिलों से घिरा है नागौर
दरअसल नागौर जिले के चारों तरफ सात जिलों की सीमा लगती है. ये जिले हैं- बीकानेर, जोधपुर, सीकर, अजमेर, चूरू, जयपुर और पाली, इन सभी जिलों में कोरोना वायरस से संक्रमण के पॉजेटिव मामले सामने आ चुके हैं। बीकानेर में 3, जोधपुर में 44 (इसमें 27 ईरान से आए), जयपुर में 55, अजमेर में 5, चूरू में 10, पाली और सीकर में एक-एक कोरोना संक्रमित मिला है। ऐसे में अब तक कोरोना संक्रमण को नागौर जिले में आने से रोकने में नागौर पुलिस प्रशासन सफल हुआ है।

फ्लैग मार्च कर दिया सख्त संदेश
अबतक संक्रमण को रोकने में सफल हुए नागौर के पुलिस प्रशासन की टेंशन और जिम्मेदारी भी बढ़ गई है। इसी को देखते हुए शनिवार को कलेक्टर व एसपी के नेतृत्व में नागौर के प्रशासन ने पूरे जिले में फ्लैग मार्च किया और सख्त संदेश दिया। वहीं जिले की जनता का आभार में जताया क्योंकि नागौर में इसे लेकर जनता भी बेहद सतर्कता बरती जा रही है।

आमजन से घरों में रहने की अपील
एसपी डॉ.विकास पाठक ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए किए गए लॉकडाउन को पूरी तरह सफल बनाने के लिए आज नागौर पुलिस ने जिले भर के सभी बड़े शहरों और कस्बों में फ्लैग मार्च निकाला। नागौर एसपी ने बताया कि फ्लैग मार्च के जरिए आमजन से घरों में रहने की अपील की गई, नागौर पुलिस द्वारा गाड़ियों और पैदल फ्लैग मार्च निकाला गया और इस फ्लैग मार्च के जरिए यह संदेश दिया कि लोगों क अपने घरों में रहना है और अनावश्यक रूप से बाहर नहीं निकालना है।

हमारी भूमिका में जिले की 30 लाख जनता
एसपी डॉ. विकास पाठक ने बताया कि नागौर जिले के लोगों का सहयोग काबिले तारीफ है। लॉकडाउन शुरू होने के दौरान जिले में हम 2 हजार पुलिसवाले जिले में लॉकडाउन को सफल बना रहे थे, लेकिन अब नागौर जिले की 30 लाख जनता भी हमारी भूमिका में है और लोग पूरी तरह से सहयोग कर रहे हैं। एसपी ने बताया कि बाहर से आने वाले लोगों की हर सूचना जिले के लोगों द्वारा पुलिस को दी जा रही है जो बहुत ही महत्वपूर्ण है बाहर से आने वाले लोगों की सूचना तत्काल मिलने के चलते हम उनको क्वारंटाइन करने में सफल हुए है।

पुलिस को मिला जनता का पूरा सहयोग
नागौर जिले के चारों तरफ 7 जिलों की सीमा लगती है और इन्हीं जिलों में पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं, लेकिन नागौर पुलिस और प्रशासन द्वारा जिलों की सीमाओं को सील करने और लोगों के अपेक्षाकृत सहयोग के चलते अब तक नागौर जिला के संक्रमण से बचा हुआ है, एसपी ने कहा कि पुलिस प्रशासन के साथ ही जनता का भी पूरा सहयोग रहा और संक्रमण को जिले में आने से रोकने में सफल हुए हैं।

Leave a Reply